Breaking News

वेनेजुएला में पांच विपक्षी नेताओं की सुरक्षा वापस ली गयी

Venezuela

ब्यूनस आयर्स (एजेंसी)

वेनेजुएला में मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के नियंत्रण वाली राष्ट्रीय संविधान सभा ने हाल ही में तख्तापलट की कोशिश में शामिल होने वाले नेशनल असेंबली के पांच सदस्यों को मिलने वाली सुरक्षा एवं सुविधाएं वापस ले ली हैं। विपक्ष-नियंत्रित नेशनल असेंबली के इन पांच सदस्यों पर विश्वासघात, षड़यंत्र रचने और विद्रोह करने का आरोप है।

स्थानीय मीडिया वीटीवी के मुताबिक जुआन एंड्रेस मेजिया, सर्जियो वेरगारा, फ्रेडी सुपरलानो, कार्लोस पपारोनी और मिगुएल पिजारो को नेशनल असेंबली के सदस्य के रूप में मिलने वाली सुरक्षा एवं सुविधाएं वापस ले ली गयी हैं। इससे एक सप्ताह पहले राष्ट्रीय संविधान सभा ने तख्तापलट की कोशिश में शामिल होने वाले सात विपक्षी नेताओं से सारी सुविधाएं वापस ले ली थीं। विपक्षी नेता जुआन गुआइदो ने 30 अप्रैल को काराकस के ला कारलोटा सैन्य अड्डे से एक विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए वेनेजुएला की सेना और लोगों से सड़कों पर उतर कर माैजूदा राष्ट्रपति मादुरो को सत्ता से बेदखल करने का आह्वान किया था।

वेनेजुएला में मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए अमेरिका ने उस पर कई प्रकार के प्रतिबंध लगाने के अलावा कहा है कि वह सैन्य विकल्प पर विचार कर रहा है। नेशनल असेंबली के अध्यक्ष एवं विपक्ष के नेता जुआन गुआइदो ने 23 जनवरी को इन विरोध प्रदर्शनों का नेतृत्व करने के साथ ही स्वयं को देश का अंतरिम राष्ट्रपति घोषित किया था।

अमेरिका के अलावा अब तक कनाडा, अर्जेंटीना, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, कोस्टा रिका, ग्वाटेमाला, होंडुरास, पनामा, पैराग्वे और पेरू समेत 54 देशों ने विपक्ष के नेता जुआन गुआइदो को वेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता देने की घोषणा की है। उल्लेखनीय है कि वेनेजुएला में हजारों लोग मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इन विरोध प्रदर्शनों का नेतृत्व गुआइदो कर रहे हैं। जनवरी की शुरुआत में मादुरो ने राष्ट्रपति के तौर पर अपने दूसरे कार्यकाल की शपथ ली थी। हाल में संपन्न हुए चुनावों में उन पर गड़बड़ी करने के आरोप लगे थे।

मादुरो के नेतृत्व में कई वर्षों से वेनेजुएला गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। बढ़ती कीमतों के अलावा खाने-पीने और दवाईयों की कमी के कारण लाखों लोगों ने वेनेजुएला से पलायन भी किया है। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के मुताबिक वेनेजुएला के 27 लाख लोगों ने लैटिन अमेरिकी और कैरेबियाई देशों में शरण ली हुई है। मौजूदा राष्ट्रपति मादुरो ने गुआइदो पर अमेरिका की मदद से उन्हें सत्ता से बाहर करने के लिए साजिश रचने का आरोप लगाया है। मादुरो को चीन तथा रूस खुल कर अपना समर्थन दे रहे हैं।

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019