यूपी-दिल्ली के बीच रार, आप विधायक पर एफआईआर

0
Demanding Extortion

लखनऊ (एजेंसी)। श्रमिकों के पलायन को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर विवादित ट्वीट करने वाले आम आदमी पार्टी (आप) विधायक राघव चड्ढा के खिलाफ नोएडा पुलिस ने रविवार को प्राथमिकी दर्ज की जिसके बाद उत्तर प्रदेश और दिल्ली के बीच रार बढ़ने की संभावना प्रबल हो गयी है। शनिवार को दिल्ली की आप सरकार और योगी सरकार ने एक दूसरे पर पलायन का आतुर श्रमिकों के बीच खौफ का माहौल पैदा करने का आरोप लगाया था। इस बीच आप विधायक ने एक ट्वीट के जरिये श्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाया कि वह दिल्ली से लौट रहे श्रमिकों को खदेड़ रहे है और पिटवा रहे हैं। हालांकि कुछ समय बाद यह ट्वीट डिलीट कर दी गयी। इस बारे में मुख्यमंत्री के सलाहकार मृत्युजंय कुमार ने कहा कि आप विधायक के खिलाफ नोएडा में एफआईआर दर्ज की गयी है।

श्रमिकों की घर वापसी का इंतजाम

उन्होने कहा कि आप विधायक का यह कृत्य खेदजनक है जब पूरा देश एकजुट होकर कोरोना जैसी महामारी से लड़ रहा है। उन्होने कहा कि दिल्ली बार्डर पर हजारों लोग लाकडाउन का उल्लघंन कर रहे है लेकिन आप सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है जबकि यूपी सरकार पलायन को आतुर श्रमिकों के खाने पीने से लेकर बसों तक का इंतजाम करने में रात दिन जुटी हुयी है। इस बीच आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश सरकार पर अराजकता फैलाने का आरोप लगाया और कहा, ‘26 मार्च को यूपी के मुख्यमंत्री ने एलान किया था कि उनकी सरकार देश के किसी भी कोने में बसे राज्य के श्रमिकों की घर वापसी का इंतजाम करेगी।

उनकी इस घोषणा ने ही समस्या खडी कर दी लेकिन अब वह हम पर आरोप लगा रहे हैं। उधर, आप विधायक राघव चड्ढा के खिलाफ नोएडा के सेक्टर 20 थाने पर उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत कुमार ने एफआईआर दर्ज करायी है। यह प्राथमिकी आईपीसी की धारा 500 और 500(2) के साथ आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत दर्ज करायी गयी है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।