सेनिटाइजर की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, खेड़कीदौला एरिया में हुआ हादसा

0
Fire in sanitizer factory

आसपास के क्षेत्रों को भी कराया खाली

(Fire in sanitizer factory)

गुरुग्राम। मिलेनियम सिटी गुरुग्राम में गुरुग्राम-जयपुर एक्सप्रेस-वे किनारे खेड़कीदौला में एक सेनिटाइजर बनाने की फैक्ट्री में शनिवार सुबह आग लग गई। कैमिकल होने की वजह से आग ने चंद मिनटों में ही विकराल रूप धारण कर लिया। मौके पर सैंकड़ों दमकल की गाड़ियों को आग बुझाने के लिए लगाया गया। दोपहर बाद आग पर काबू पाया गया।
यहां खेड़कीदौला औद्योगिक क्षेत्र में सेनिटाइजर बनाने की स्टेला नामक फैक्ट्री में शनिवार की सुबह एकाएक आग लग गई। इस फैक्ट्री में कॉस्मेटिक, परफ्यूम आदि बनाया जाता है।

बताया गया कि यह आग गैस सिलेंडर फटने से लगी है। आग लगने की सूचना पाकर मौके पर पुलिस और फायर बिग्रेड की काफी गाड़ियांं पहुंची और आग बुझाने के प्रयास किए गए। जैसे-जैसे आग पर पानी डाला जा रहा था, आग और अधिक भड़क रही थी।

  • आग के गोले आसमान में उड़ रहे थे।
  • आसपास के क्षेत्रों में भी इस आग के कारण दहशत फैल गई।
  • पुलिस द्वारा आसपास के क्षेत्रों को खाली कराने के लिए भी निर्देश दिए गए।
  • आग लगने के स्पष्ट कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।
  • हर कोई फिलहाल इस आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहा है।
  • अहम बात यह है कि इस आग में कोई जनहानि नहीं हुई है।

कोरोना में बढ़ी मांग से उत्पादन पर जोर

कोरोना संक्रमण काल में अब बहुत सी फैक्ट्री और कंपनियों का जोर सेनिटाइजर बनाने की ओर हो गया है। क्योंकि इसकी डिमांड काफी बढ़ गई है। इसकी आड़ में अनेक अवैध फैक्ट्रियां भी संचालित की जा रही हैं। सेनिटाइजर बनाने में ट्राइक्लोसान नामक कैमिकल का भी प्रयोग किया जाता है। इसे हाथ की त्वचा सोख लेती है। इसके अलावा इसमें एक विषैला पदार्थ बेंजाल्कोनियम क्लोराइड भी शामिल किया जाता है, जो कि कीटाणुओं को खत्म करने का काम करता है।

  • यह भी समझना जरूरी है कि ये दोनों ही तत्व हमारी त्वचा को नुकसान भी पहुंचाते हैं।
  • कोरोना काल में हर कोई सेनिटाइजर का धड़ल्ले से उपयोग कर रहा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।