Breaking News

सरसों खरीद में लगाई गई शर्ते बनी आफत : कमल

farmers

-युवा कल्याण संगठन के संरक्षकने अनाज मंडी का किया दौरा

भिवानी(सच कहूँ न्यूज)। सरकार ने आॅनलाईन रजिस्टेÑशन व 25 क्विंटल प्रति किसान बेचने की जो शर्त लगाई है, वो सरासर नाइंसाफी है। यह बात युवा कल्याण संगठन के संरक्षक कमल सिंह प्रधान ने शनिवार को अनाज मंडी व चारा मंडी का दौरा करते हुए किसानों से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से आॅनलाईन एक जटिल प्रक्रिया है, उसको किसान अच्छी तरह समझ नहीं पाया है। जिसकी वजह से किसान मजबूरी में अपनी सरसो को औने-पौने दाम पर बेचने को मजबूर हैं।

-समस्याओं को लेकर किसानों से की बातचीत

आज मंडी के दौरे के दौरान रूपगढ़ के किसान रामनिवास, प्रहलादगढ़ के किसान सुभाष यादव व पूर्ण पूरा के किसान प्रदीप ने बताया कि सरकार की नीतियों की वजह से मजबूरी में सरसों को 3300 व 3400 रुपए के भाव से बेचने के लिए मजबूर है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की कि आॅनलाईन प्रक्रिया को सरल बनाया जाए और सरसो की पैसा किसान को तुरंत प्रभाव से मिलना चाहिए, ताकि किसान अपनी जरूरतें समय पर पूरी कर सकें। उन्होंने कहा कि अगर सरकार नहीं चेतती है तो युवा कल्याण संगठन अधिकारियों का घेराव करेगा और धरना-प्रदर्शन किए जाएंगे। युवा कल्याण संगठन के सभी पदाधिकारी 8 को तोशाम व 13 को दादरी मंडी का दौरा कर किसानों की समस्याओं को जानेंगे।

 

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019