किसानों ने उठाया रेलवे ट्रैक से धरना, अब भाजपा नेता का आवास घेरा

0
Agricultural Bill Protest Continues - Sachi Shiksha News

पेट्रोल पंप, मॉल, टोल प्लाजा पर धरने पहले की भांति जारी रहेंगे

  • हम संघर्ष खत्म नहीं कर रहे, रणनीति बदली है: उगराहां

सुनाम ऊधम सिंह वाला (सच कहूँ/खुशप्रीत)। भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां ने सुनाम रेलवे स्टेशन पर जाखल-लुधियाना रेलवे ट्रैक पर 12 दिन से चल रहे धरने को मंगलवार को उठाकर भाजपा के जिला प्रधान-2 ऋषिपाल खैहरा की रिहायश और प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रेम गुगनानी की दुकान के समक्ष शिफ्ट कर दिया। इसके साथ ही संगरूर में किसानों ने भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य व पूर्व राष्ट्रीय सचिव किसान मोर्चा सतपंत पूनिया के आवास के समक्ष धरना लगाया। प्रांतीय प्रधान जोगिंदर सिंह उगराहां ने कहा कि वह अपना संघर्ष समाप्त नहीं रहे हैं, बल्कि दोगुनी ताकत से भाजपा के नेताओं के घरों के समक्ष पक्का मोर्चा लगाकर संघर्ष को आगे बढ़ा रहे हैं। पेट्रोल पंप, मॉल, टोल प्लाजा इत्यादि पर धरने पहले की भांति ही जारी रहेंगे। आने वाले समय में धरनों को और बढ़ाने का फैसला लिया जाएगा।

यह भी पढ़े: राज्यसभा की 11 सीटों के लिए द्विवार्षिक चुनाव 9 नवम्बर को

बाहरी राज्यों से आने वाली धान बंद न हुई तो संघर्ष तेज होगा

इसके साथ ही अन्य संगठनों द्वारा रेलवे ट्रैक पर लगाए जा रहे धरने को समर्थन भी किया जाएगा। संगरूर में ब्लाक प्रधान गोबिदर सिंह मंगवाल, गोबिदर सिंह बड़रुखां की अगुआई में किसानों ने भाजपा नेता सतवंत पूनिया के निवास के समक्ष पक्का मोर्चा लगाया।धरने में प्रांतीय प्रधान जोगिंदर सिंह उगराहां, जिला प्रधान अमरीक सिंह गंढूआं, जिला महासचिव दरबारा सिंह ने कहा कि किसान कारपोरेट घराणों को कदाचित अपनी जमीन पर काबिज नहीं होने देंगे। बेशक रेलवे ट्रैक पर लगाया गया धरना उठा लिया गया, लेकिन संघर्ष अन्य मोर्चो पर जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि 25 अक्टूबर को दशहरे पर तमाम कारपोरेट घरानों के पुतले फूंके जाएंगे। इस मौके पर सुनाम ब्लाक के प्रधान जसवंत सिंह तोलेवाल, रामसरन सिंह उगराहां, पाल सिंह दोलेवाला, गोबिद सिंह चटठे, सुखपाल माणक, अजैब जखेपल, महिदर नमोल, गुरमेल सिंह आदि उपस्थित थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।