कर्ज के बोझ तले दबा प्रदेश का किसान : दीपेन्द्र हुड्डा

0
Deependra Hooda

सरकार के पास युवा, किसान और व्यापारी के लिए कोई योजना नहीं

(Deependra Hooda)

रोहतक (सच कहूँ न्यूज)। सीडब्ल्यूसी सदस्य दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि हरियाणा कर्ज के बोझ तले दबता जा रहा है और सरकार ने हाथ खड़े कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के भ्रष्टाचार ने हरियाणा को बर्बाद कर दिया है। सरकार के पास युवा की बेरोजगारी, किसान की बेहाली और व्यापारी की तंगहाली का कोई उपाय नहीं है। यह बात उन्होंने शनिवार को सांपला में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।

प्रदेश पर कुल कर्ज 61,000 करोड़ था, जो अब बढ़कर 1 लाख 98 हजार 700 करोड़ हो गया है

पूर्व सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने गठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश पर कर्ज का बोझ तीन गुणा बढ़ गया है पर विकास और रोजगार कहीं नजर नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार को यह बताना होगा की हजारों करोड़ का कर्ज यदि विकास में नहीं लगा तो आखिर कहां गया। उन्होंने कहा कि 2014 में जब कांग्रेस सरकार ने सत्ता छोड़ी थी तो प्रदेश पर कुल कर्ज 61,000 करोड़ था, जो अब बढ़कर 1 लाख 98 हजार 700 करोड़ हो गया है।

  • पिछले पांच सालों में सरकार ने लगभग 1 लाख 30 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लिया है।
  • जहां पिछली सरकार ने उस पैसे से 5 थर्मल पॉवर प्लांट बनवाए।
  • मैडिकल कॉलेज बनवाए।
  • नए आईएमटी बनवा कर युवाओं को रोजगार दिलाया।
  • इस सरकार ने कर्ज लेकर सिर्फ आयोजन करवाए।

पांच साल में भाजपा सरकार ने हरियाणा के लोगों को सिर्फ कर्जे का तोहफा दिया है

इससे न केवल वर्तमान में हरियाणा को समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, बल्कि भविष्य की सरकारों को भी इसका फल भुगतना पड़ेगा। राज्य की कमाई का एक बड़ा हिस्सा इस कर्ज का ब्याज और असल चुकाने में चला जाएगा और इससे विकास के कामों के लिए पैसा नहीं बचेगा।(Deependra Hooda)उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार बेरोजगारी और आर्थिक मंदी के सामने घुटने टेक चुकी हैं। उन्होंने सरकार की नीतियों को निशाना साधा और कहा कि सरकार के आर्थिक दिवालियेपन का आलम यह है कि वो अब पूरी तरह से शराब के पैसे पर चल रही है। हमारी नीति थी-गांव-गांव स्कूल खोलो, गठबंधन सरकार की नीति है घर-घर ठेके खोलो, हमारी नीति थी युवाओं को खिलाड़ी बनाओ, इनकी नीति है युवाओं को नशेड़ी बनाओ ताकि, हरियाणा के युवाओं का ध्यान सरकार के गलत कारनामों की तरफ न जाये।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।