कृषि संबंधी बिलों के विरोध में किसानों का दिल्ली कूच 26 को

0
Farmers march to Delhi to protest against agricultural bills 26

सरकार लोगों की उम्मीद पर नहीं उतरी खरी : अनिल नांदल ( Agricultural Bills)

  • दिल्ली घेराव के बाद होगी सरकार की उल्टी गिनती शुरू

रोहतक (सच कहूँ न्यूज)। भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल ने कहा कि देश व प्रदेश में किसानों की हालत बद से बदतर हो गई है। सरकार द्वारा कृषि संबंधित तीन बिल पूरी तरह से किसान विरोधी हैं, क्योकि आज भी मंडियों में किसानों को फसलों के उचित दाम नहीं मिल पा रहे हैं और किसान औने-पौने दामों पर अपनी फसल बेचने पर मजबूर हैं।

उन्होंने कहा कि तीन (Against Agricultural bills) कृषि बिलों के विरोध में 26 नवंबर को दिल्ली घेराव में किसान, मजदूर, कर्मचारी, व्यापारी भारी संख्या में शामिल होंगे और उसी दिन से सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। अनिल नांदल ने कहा कि भाजपा सरकार जो काले कानून लेकर आई है, वह सिर्फ पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए है। आज सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते हर वर्ग में भारी रोष है और सड़कों पर आंदोलन करने पर मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि इससे बड़ी शर्म की क्या बात होगी कि जब देश का अन्नदाता ही अपनी फसलों की उचित लागत को लेकर सड़कों पर पुलिस की लाठियां खाने पर मजबूर है।

अनिल नांदल ने कहा कि दिल्ली घेराव को लेकर सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं और किसानों में सरकार के प्रति भारी आक्रोश है। साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार झूठ बोलकर किसानों को गुमराह कर रही है, जबकि वास्तविकता यह है कि प्रदेश के किसानों की स्थिति दयनीय बनी हुई है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने समय रहते इन काले कानूनों को वापिस नहीं लिया तो सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।