हरियाणा

मांगों को लेकर किसानों ने राष्ट्रीय राजमार्ग किया जाम

Farmers, Jammed, National Highways, Demands, Haryana

1 घंटे तक योग व प्राणायाम करके किया रोष प्रदर्शन

कलायत (सच कहूँ न्यूज)। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर अपनी मांगों को लेकर किसानों ने राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर अनोखे अंदाज में प्रदर्शन किया। किसानों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर गांव शिमला में सुबह 9.30 पर जाम लगा दिया जो करीब 1 घंटा तक चला। जाम की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी ललित मोहन के नेतृत्व में पुलिस मौके पर पहुंच गई तथा भाकियू नेताओं को समझा कर जाम खुलवाने की कोशिश की। किसान नेताओं का कहना था कि वे लोग तय नीति के तहत 1 घंटे का शांतिपूर्वक जाम लगाएंगे।

एक ही मांग कर रहे हैं 

इस दौरान प्रदर्शन में शामिल सभी किसान योग व प्राणायाम ही करेंगे। भाकियू प्रदेश कोषाध्यक्ष सतपाल दिल्लोंवाली ने कहा कि किसान की हालत दिन प्रतिदिन गिरती ही जा रही है। कर्ज में डूबा किसान केवल आत्महत्या को ही विकल्प मान रहा है। किसान की इस हालत के लिए सरकारें व उनकी नीतियां पूरी तरह से जिम्मेवार हैं। उन्होंने कहा कि एक सांसद साल में 4 लाख की बिजली मुफ्त फूंकने का अधिकारी है पर किसान का 4,000 का बिजली का बिल लंबित होते ही उसका कनैक्शन काटने को दौड़ पड़ते हैं। किसान नेता जिया लाल ने कहा कि किसान को कर्ज नहीं कर्ज से मुक्ति चाहिए। सरकार से वे लोग एक ही मांग कर रहे हैं कि किसान का पिछला पूरा कर्ज एकमुश्त माफ कर दिया जाए तथा उसकी फसल के लाभकारी मूल्य उसे दिलवाए जाए।

यदि किसान को उसकी उसकी पैदावार के लाभकारी मूल्य मिलेंगे तो उसे कर्ज लेने की जरूरत ही नहीं। जिला प्रधान ने कहा कि भाजपा सरकार ने सत्ता से प्राप्ति से पूर्व किसानों सेस्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू कर उन्हें लाभकारी मूल्य दिलवाने का वायदा किया था। सत्ता प्राप्ति के बाद सरकार ने उस वायदे को हाशिए पर धकेल दिया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष राम सिंह खुराना, सतपाल दिल्लोंवाली, जिया लाल ढुंडवा, रामकुमार प्रधान, इंद्र सिंह, बलवान सिंह, प्रदीप कुमार सहित सैकड़ों किसान मौजूद थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top