Breaking News

किसानों का फूटा गुस्सा, लगाया जाम

farmers, imposed jam

सीएम और कृषि मंत्री के खिलाफ की नारेबाजी

 खरीद का टोकन न दिए जाने व टोकन बदलने से थे नाराज

झज्जर (संजय भाटिया)।  झज्जर अनाज मंडी में गेहूं व सरसों की खरीद को लेकर किसानों की परेशानी किसी से छिपी नहीं है। उठान, भुगतान व खरीद से परेशान किसान मारा-मारा फिर रहा है, लेकिन उसकी कहीं भी कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है। शनिवार को जब समस्याओं को लेकर किसानों के सब्र का बांध टूट गया तो किसान सड़कों पर उतर आए और उन्होंने झज्जर के राव तुलाराम चौक पर जाम लगा दिया।
नाराज किसान सड़क के बीचोंबीच बैठ गए और उन्होंने किसी भी वाहन को वहां से गुजरने नहीं दिया। इस दौरान किसानों ने सीएम मनोहर लाल खट्टर व सूबे के कृषि मंत्री ओ.पी. धनखड़ के खिलाफ जमकर नारेबाजी। किसानों द्वारा लगाए गए जाम के दौरान गुरूग्राम व रेवाड़ी जाने वाले मार्ग पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई और वाहन चालकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। जाम लगाए जाने की सूचना जैसे ही जिला पुलिस प्रशासन को मिली तो मौके पर पहुुंचे पुलिस बल ने किसानों की समस्या का समाधान करने का आश्वासन देकर करीब आधा घंटा बाद जाम खुलवा दिया।

मंडी में किसानों की सरसों की खरीद सुचारू रूप से की जा रही है। लेकिन समस्या यह है कि मंडी में अपनी सरसों लेकर आने वाले कुछ किसान सरसों मंडी में लाने से पहले ही टोकन मांग रहे हैं, जोकि संभव नहीं है। इतना जरूर है कि पिछले दिनों किसानों को जो टोकन दिए गए थे, उन्हें तबदील जरूर किया गया है। लेकिन खरीद न किए जाने की बात व टोकन न दिए जाने की बात सरासर गलत है। सचिव मार्किट कमेटी सचिव, झज्जर

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top