राजस्थान

किसानों ने किया एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन

Farmers, Demonstration, SDM Office, Police, Rajasthan

 पुलिस व किसानों के बीच धक्का-मुक्की

  • सर्वे करवाने के आश्वासन पर धरना समाप्त

रायसिंहनगर (सच कहूँ न्यूज)। गत 10 जून को क्षेत्र में आए भयंकर तूफान से नष्ट हुई फसल की लागत का डेढ़ गुना लाभवारी मूल्य देने की मांग को लेकर अखिल भारतीय किसान सभा ने एसडीएम मुख्यालय का घेराव किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी प्रशासन को सौंपा गया। ज्ञापन में चेतावनी दी कि मांग पूरी न होने पर 16 को नैशनल हाइवे जाम किया जाएगा। मंगलवार दोपहर दो बजे गुरुद्वारा सिंह सभा में किसानों की सभा का आयोजन किया गया। सभा के बाद एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया गया।

वहां पर एसडीएम उपस्थित नहीं होने पर किसान उग्र हो गए। जब किसान एसडीएम कार्यालय में घुसने लगे तो पुलिस के साथ धक्का-मुक्की भी हुई। किसान एसडीएम कार्यालय के अंदर घुस गए व तहसीलदार कार्यालय पर धरना लगा दिया। इसके पश्चात तहसीलदार द्वारा सात दिन में खराबे का सर्वे करवाकर किसानों को रिपोर्ट देने के आश्वासन के बाद धरना समाप्त किया। यह धरना करीब दो घंटे चला। सभा को संबोधित करते हुए श्योपतराम मेघवाल ने कहा कि भाजपा अपने चुनावी घोषणा पत्र से मुकर रही है।

16 को करेंगे नैशनल हाइवे जाम

भाजपा ने चुनावों से पहले किसानों से सरकार बनने के बाद किसानों का कर्ज माफ व लागत का डेढ़ गुणा लाभकारी फसल मूल्य देने का वायदा किया था। उसी वादाखिलाफी के कारण आज पूरे देश का किसान सड़कों पर है। 16 जून को किसान संगठन पूरे देश के राष्टÑीय हाइवे जाम करके देशव्यापी आंदोलन का आह्वान करेंगे। सभा में जिलाध्यक्ष कालू थोरी ने गत 10 जून को आए तूफान से फसल खराबे का मुआवजा देने की मांग की। थोरी ने बताया कि किसानों की 100 प्रतिशत नरमा, ग्वार, सब्जी व हरे चारे की फसल नष्ट हो चुकी है।

इन्होंने किया सभा को संबोधित

सभा को श्योपत मेघवाल व जिलाध्यक्ष कालू थोरी के अलावा गुरतेज स्याग, महादेव बिश्नोई, संजय गोदारा, पूर्व सरपंच नक्षत्र सिंह, माणक थालौड़, विनोद बिश्नोई, गुरमीत मान, गगन मान, बालकिशन, रामेश्वर पंचार ठण्डी आदि ने भी संबोधित किया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019