दिल्ली कूच पर अड़े किसान

0
12
Agriculture-Bill-Protest

आक्रोश: शंभू बॉर्डर पर स्थिति तनावपूर्ण, गुस्साए किसानों ने बैरिकेड्स को उठाकर घग्गर नदी में फेंका

  • पुलिस ने किया आंसू गैस और पानी का प्रयोग

दिल्ली में भारी जाम

  •  भीषण ठंड में किसानों पर पानी की बौछार भारी अन्याय : राहुल

  •  केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र तोमर का 3 दिसंबर को किसानों के लिए बातचीत का न्यौता

सच कहूँ/ अनिल कक्कड़ / देवीलाल बारना
चंडीगढ़\कुरुक्षेत्र । नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए राशन-पानी के साथ दिल्ली कूच कर रहे किसानों का आंदोलन अब आर-पार की लड़ाई में बदलता दिख रहा है। हरियाणा और उत्तर प्रदेश से दिल्ली में आने वाले दिल्ली गाजियाबाद बॉर्डर , दिल्ली फरीदाबाद बॉर्डर, करनाल हाईवे, दिल्ली चंडीगढ़ हाईवे, अंबाला पटियाला बॉर्डर, शंभू बॉर्डर, अंबाला हरियाणा बॉर्डर सहित राज्य मार्गों पर पुलिस और किसानों के बीच में जमकर संघर्ष हुआ। घनघोर शीतलहर में किसानों पर पुलिस के द्वारा आंसू गैस का प्रयोग कर वाटर कैनन से पानी की बौछार की, फिर भी किसान डटे रहे। शंभू बॉर्डर पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, रोके जाने से गुस्साए किसानों ने जहां पुलिस बैरिकेड्स को उठाकर घग्गर नदी में फेंक दिया, वहीं पुलिसकर्मियों पर पथराव भी किया गया।

किसानों के विरोध प्रदर्शन के कारण दिल्ली में जाम की स्थिति आ गई है। दिल्ली पुलिस अब बॉर्डर पर वाहनों की चेकिंग कर रही है, ताकि किसान दिल्ली में ना जा सकें। लंबे जाम के कारण कई लोगों को पैदल ही सफर करना पड़ रहा है। उधर किसान आंदोलन पर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि सरकार विरोध कर रहे किसानों की बात सुनने की बजाय उनकी आवाज को दबा रही है। वहीं कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मैंने किसानों से बात की है और उन्हें 3 दिसंबर को फिर से बातचीत के लिए बुलाया है।

सीएम खट्टर ने फिर दोहराई राजनीति छोड़ने की बात, कैप्टन ने खट्टर पर किसानों को भड़काने का लगाया आरोप

किसानों का दिल्ली कूच रोकने पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जहां पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को आड़े हाथों लिया था वहीं अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने उनपर पलटवार किया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को ट्विटर पर लिखा- कैप्टन अमरेन्द्र जी, मैंने इसे पहले भी कहा है और मैं फिर से कह रहा हूं, मैं राजनीति छोड़ दूंगा, अगर एमएसपी पर कोई परेशानी होगी- इसलिए, कृपया निर्दोष किसानों को उकसाना बंद करेें।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आगे लिखा- मैं पिछले 3 दिनों से आप तक पहुँचने की कोशिश कर रहा हूँ, लेकिन दुख की बात है कि आपने पहुंच के बाहर ही रहने का फैसला किया हुआ है।ैक्या इससे समझ नहीं आता कि आप किसान के मुद्दों के लिए कितना गंभीर हैेंआप केवल ट्वीट कर रहे हैं और बातचीत से भाग रहे हैं, क्यों? मनोहरलाल खट्टर ने आगे कहा, ‘आपके झूठ, धोखे और प्रॉपगेंडा का वक्त खत्म हो गया हैे लोगों को अपना असली चेहरा देखने दें।

किसानों को दिल्ली जाने दो खट्टर जी: कैप्टन

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों को दिल्ली जाने से रोकने पर दु:ख व्यक्त किया है और भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि वह अपनी राज्य सरकारों को निर्देशित करे कि वे किसानों के खिलाफ इस तरह के मजबूत हथकंडे न अपनाएं। हरियाणा सरकार बल का सहारा लेकर उन्हें क्यों उकसा रही है? क्या किसानों को सार्वजनिक राजमार्ग से शांतिपूर्वक गुजरने का अधिकार नहीं है।

हिरासत में योगेंद्र यादव

किसानों का प्रदर्शन कई जगह आक्रामक हो रहा है। गुरुग्राम में प्रदर्शन कर रहे योगेंद्र यादव और अन्य किसानों को हिरासत में लिया गया है। बिलासपुर थानाक्षेत्र में ट्रैक्टर पर सवार होकर योगेंद्र यादव दिल्ली की ओर जाने की तैयारी में थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।