किसान का बाग उजाड़ना पड़ गया महंगा

0
Suspend

बिजली विभाग का कार्यकारी अभियंता सस्पैंड

  • पीड़ित की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने दिए आदेश

गुरुग्राम (सच कहूँ /संजय मेहरा)। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीरवार को बागवानी किसान की समस्या पर गौर नहीं करने पर हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम के कार्यकारी अभियंता को निलंबित करने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री यहां जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में कुल 11 शिकायतें रखी गई थीं, जिनमें से अधिकतर का मुख्यमंत्री ने मौके पर ही निपटारा कर दिया।बैठक में जिला के फरूखनगर तहसील के गांव बाबरा बाकीपुर के बागवानी किसान की समस्या पर गौर नहीं करने के लिए हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम के कार्यकारी अभियतां को मुख्यमंत्री ने निलंबित करने के आदेश दिए।

इस मामले में शिकायतकर्ता का कहना था कि बिजली निगम ने 220 केवी बड़ी लाइन लगाने के लिए उसके बाग में बड़े-बड़े गड्ढे कर दिए और उसके बाग को उजाड़ दिया। उसे इसके लिए कोई नोटिस आदि नहीं दिया गया और ना ही उसकी संतुष्टि की गई। उसने बताया कि इस बड़ी लाइन के लिए वह बाग में बने अपने मकान को भी तोड़ने को तैयार था, लेकिन निगम अधिकारियों ने उसकी एक नहीं सुनी और बाग में एल के आकार में गड्ढे खोद दिए। बिजली निगम के कार्यकारी अभियंता से जब मुख्यमंत्री ने इस पर जवाब तलब किया तो उसे कुछ पता ही नहीं था।

  • मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों को जब शिकायत मिली तो उन्हें इस पर गौर किया।
  • इसकी तह तक जाकर इसका समाधान करने का प्रयास करना चाहिए था, जो उन्होंने नहीं किया।
  • एचवीपीएनएल के अधीक्षण अभियंता ने बताया ।
  •  उक्त किसान को 3 लाख 89 हजार रुपये का मुआवजा दिया गया है।
  • जिस पर शिकायतकर्ता ने कहा कि यह तो उसके नुकसान का चौथाई हिस्सा ही है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।