Breaking News

ईवीएम हैकिंग विवाद : एफआईआर दर्ज करने का चुनाव आयोग का निर्देश

EVM hacking controversy

 बीजेपी का पलटवार, दावे को बताया कांग्रेस प्रायोजित

नयी दिल्ली (एजेंसी)। चुनाव आयोग ने ब्रिटेन में एक हैकर द्वारा ईवीएम हैक किये जाने के दावे के मामले में दिल्ली पुलिस को प्राथमिकी दर्ज करने को कहा है। आयोग ने नयी दिल्ली जिला के पुलिस उपायुक्त को लिखे पत्र में भारतीय दंड संहिता की धारा 505(ए) (बी) के तहत यह मामला दर्ज करके इसकी तत्काल जांच शुरू करने का निर्देश दिया है। ‘लोकसभा चुनाव से पहले ईवीएम हैकिंग का जिन्न फिर बाहर आ गया है।

अमेरिका में राजनीतिज्ञ शरण चाहने वाले एक कथित हैकर सैयद शुजा के दावे से सनसनी फैल गई है। सैयद शुजा ने दावा किया है ईवीएम को हैक किया सकता है और भारत में 2014 के आम चुनाव में ईवीएम के जरिए धांधली हुई। सैय्यद शुजा के ऐसे आरोपों पर बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी की ओर से कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह पूरा आयोजन कांग्रस द्वारा प्रायोजित था। रविशंकर प्रसाद ने कहा, ”आशीष रे नेशनल हेरल्ड में कंट्रीब्यूटर हैं, नेशनल हेरल्ड में एक लेख में उन्होंने राहुल गांधी के लंदन दौरे को लेकर पूरी स्तुति गायी है। आशीष ने राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कई ट्वीट्स भी किए हैं। आशीष रे समर्पित कांग्रेसी हैं और सोशल मीडिया बीजेपी के खिलाफ प्रचार करते हैं. कहां के पत्रकार हैं, हमें नहीं पता।

विपक्षी दल मिलकर उठाएंगे ईवीएम का मुद्दा: ममता

कोलकाता (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि वह सभी विपक्षी दलों के साथ मिलकर चुनाव आयोग के समक्ष इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का मुद्दा उठायेंगी। सुश्री बनर्जी द्वारा शनिवार को कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड पर आयोजित ‘यूनाइटेड इंडिया’ रैली में विपक्षी दलों के कई नेताओं ने ईवीएम की कड़ी आलोचना की थी और आगामी लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग की थी। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के नेता और राज्यसभा सांसद सतीश मिश्रा ने कहा, ‘जनता भाजपा सरकार को सत्ता से हटाना चाहती है। हमें सचेत रहना होगा कहीं वे पिछले चुनाव की तरह इस बार भी ईवीएम से गड़बड़ी न करे। सभी दलों को इस बारे में चुनाव आयोग से बात करनी होगी।

साइबर विशेषज्ञ द्वारा लन्दन में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंन्स में यह दावा कि लोक सभा आमचुनाव 2014 के साथ-साथ उत्तर प्रदेश, गुजरात व दिल्ली आदि राज्यों के पिछले विधानसभा आमचुनाओं में ई.वी.एम. के जरिये जबर्दस्त धांधली की गई थी। उन्होने कहा कि इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव को मतपत्रों से कराये जाये। ई.वी.एम. के सत्यापन की ऐसी कोई पुख्ता व्यवस्था नहीं है। गत लोकसभा तथा विधानसभा चुनावों में धाधली की गई थी।
बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष, मायावती

ईवीएम चोर है। उन्होंने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग की। हम पारदर्शी चुनाव चाहते हैं। यह बहुत जरुरी है। ईवीएम को लेकर मुझे डरा बना हुआ है। अगर धोखाधड़ी से चुनाव जीते गये तो हम कभी इसे स्वीकार नहीं करेंगे।
नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष, फारुक अब्दुल्ला

कथित हैकर ने क्या दावे किए?

स्काइप के जरिये लंदन में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए सैयद शुजा ने दावा किया कि अपनी टीम के कुछ सदस्यों के मारे जाने के बाद वह भारत से भाग गए क्योंकि उन्हें देश में अपनी जान को खतरा था। इसलिए वह स्काइप के जरिये स्क्रीन पर सामने आए लेकिन उनका चेहरा ढंका हुआ था।
शुजा ने दावा किया कि टेलीकॉम क्षेत्र की बड़ी कंपनी रिलायंस जियो ने कम फ्रीक्वेंसी के सिग्नल पाने में बीजेपी की मदद की थी ताकि ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सके। हालांकि, उन्होंने अपने दावों के समर्थन में कोई सबूत नहीं दिया। हालांकि, जियो का 2014 में कोई अस्तित्व नहीं था और उसकी सेवाएं सितंबर 2016 में शुरू हुई थीं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top