इंजीनियर बेटे ने की खुदकुशी, पिता गिरफ्तार

0
Engineer, Son, Suicide, Father, Arrested, Panic, Satchel Charge

पटियाला सिटी में कुकर बमों से फैली दहशत, पुलिस के फूले हाथ-पांव

  • प्रेशर कुकर बम, कुछ पाईप बम, कुछ विस्फोटक सामग्री सहित भारी मात्रा में हथियार बरामद

पटियाला (खुशवीर सिंह तूर)। मुख्य मंत्री के शहर में बनी दर्शन कॉलोनी में रहने वाले पिता- पुत्र की ओर से बम बनाने का मामला सामने आया है। पुलिस को इसकी भनक लगने पर चाहे पिता को तो गिरफ़्तार कर लिया गया है परंतु पुत्र ने अपने घर में पिस्तोल से गोली मार कर खुदकुशी कर ली।

पुलिस को घर की तलाशी लेने के बाद प्रेशर कुकर बम, पाईप बम, बम बनाने वाली विस्फोटक सामग्री सहित भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं। इधर पुलिस की ओर से इस मामले संबंधी कुछ बताने से बचा जा रहा है और सिर्फ जांच किए जाने की बात कही जा रही है।

जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली कि पटियाला की दर्शन कॉलोनी में रहने वाले हरप्रीत सिंह और उसके पुत्र रजतवीर ने अपने पास धमाकाखेज सामग्री और देशी बम बनाकर अवैध हथियार एमोनीशन रखे हुए हैं।

डीआईजी पटियाला रेंज सुखचैन सिंह गिल ने बताया कि उनके पास खबर थी कि हरप्रीत सिंह अपनी कार रिटज में जबकि रजतवीर अपनी गाड़ी स्कॉर्पियो में उक्त विस्फोटक सामग्री लेकर राजपुरा साईड को जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि सीआईए स्टाफ और थाना सदर पुलिस को यूनिवर्सिटी के नजदीक गांव फलौली से हरप्रीत सिंह की रिटज कार में से कुकरनुमा विस्फोटक सामग्री बरामद हुई जबकि उसका लड़का रजतवीर मौके से अपनी स्कॉर्पियो गाड़ी से फरार हो गया। पुलिस की ओर से जब हरप्रीत से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह बम तैयार करते हैं।

इससे भारी संख्या पुलिस ने उनके घर दर्शन नगर में रेड की जिस दौरान आईजी, डीआईज्ी, एसएसपी सहित भारी संख्या में पुलिस पार्टी शामिल थी।

विशेषज्ञों की टीम ने की जांच

पुलिस की ओर से इस दौरान सीआरपी,डॉग स्क्वायड और एफएसएल मोहाली से विशेषज्ञों की टीम को बुलाया गया। रजतवीर को पुलिस रेड का पता लगने पर पुलिस के डर के कारण उसने अपने आप को गोली मार कर खुदकुशी कर ली।

डीआईजी ने बताया कि उनके दूसरे मकान में से जहां कि रजतवीर का शव पड़ा थी, वहीं से प्रेशर कुकर बम, कुछ पाईप बम, पाईप बम बनाने वाली कुछ धमाकाखेज सामग्री, देसी कट्टा 12 बोर, 32 बोर पिस्तोल, 12 बोर बंदूक मेड, दो 12 बोर बंदूकें और भारी मात्रा में जिंदा12 बोर और 315 बोर कारतूस सहित कुछ खोल कारतूस और बाईनोकुलर आदि बरामद हुए हैं।

जब डीआईजी से इस धमाकाखेज सामग्री और भारी मात्रा में रखे हथियारों के कारणों संबंधी पूछा तो उन्होंनेकहा कि इस बारे में जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि मोहाली से आई विशेषज्ञों की टीम की ओर से इन पे्रशर कुकर बमों की जांच की जा रही है और उसके बाद ही इस बारे में असली जानकारी मिल सकेगी।

जब उनसे आतंकवादी संगठनों व अन्य व्यक्तियों के साथ संपर्क संबंधी पूछा गया तो उन्होंने जांच की बात कही। खास बात यह है कि रजतवीर के फेसबुक पेज पर ऐतराज योग्य हथियारों वाली फोटो अपलोड हुई हैं जिस संबंधी भी पुलिस की ओर से जांच की बात कही गई है। उन्होंने बताया कि उसके पिता हरप्रीत से पूछताछ की जा रही है।

बम मामले की चर्चा के बाद उठे कई सवाल

मुख्य मंत्री के शहर में पिता-पुत्र की ओर से बम बनाने का मामला मशहूर होने पर कई सवालों ने जन्म ले लिया है। पंजाबी यूनिवर्सिटी की पिछली ओर गांव फलौली के पास से जहां पुलिस ने हरप्रीत सिंह को गिरफ़्तार किया है, वहीं लोगों का कहना है कि यहां पिछले कई दिनों से रात के समय धमाकों की आवाज आ रही थी।

इस मौके गांव के लोगों ने पत्रकारों को वह दीवारें और स्थान दिखाए जहां धमाकों के बाद उक्त जगह नुकसान हुए साफ नजर आ रहे थे। इस दौरान कई दीवारों पर कई खोल और निशान भी दिखाई दिए। गांव के लोगों ने बताया कि उनकी ओर से इस संबंधी थाना सदर पुलिस को भी सूचित किया गया था कि यहां कई दिनों से पटाखों की आवाज आ रही है।

चर्चा यह है कि इनकी ओर से इस जगह पर अपने बनाए गए प्रैशर कुकर बमों को जांच के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था। इस दौरान पुलिस की ओर से भी यहां जांच की गई। इस बारे में डीआईजी ने कहा कि अभी वह इस बारे में कुछ नहीं बता सकते और जांच के बाद ही कुछ बता सकेंगे।

यहां बड़ा सवाल यह पैदा हो रहा है कि पिता-पुत्र उक्त पेशर कुकर बम और पाईप बम किस उद्देश्य के लिए बनाऐ जा रहे थे और इनका क्या करना था। अभी पुलिस भी इन बमों की जांच में उलझी हुई है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।