रोहतक पीजीआई के इमरजेंसी विभाग के सीएमओ निलंबित

0
Emergency department CMO in Rohtak PGI suspended

पुडुचेरी की पूर्व उपराज्यपाल के ईलाज में कोताही का आरोप

  • 12 जून को ईलाज के लिए पीजीआई आई थी पूर्व उपराज्यपाल चन्द्रावती
  • परिजनों ने देर रात निजी अस्पताल में कराई भर्ती
रोहतक सच कहूँ न्यूज। पुडुचेरी की उपराज्यपाल चन्द्रावती के ईलाज में कोताही के मामले में पीजीआई प्रबंधन ने आपातकालीन विभाग के सीएमओ को छह माह के लिए निलंबित कर दिया है। दरअसल 12 जून को पूर्व उपराज्यपाल 92 वर्षीय चन्द्रावती को कुल्हे में चोट के चलते चरखी दादरी स्थित उनके आवास से परिजन पीजीआई लेकर पहुंचे थे, लेकिन बार-बार गुहार करने के बावजूद भी पूर्व उप राज्यपाल को सही से ईलाज नहीं मिला और परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। परिजनों ने आरोप लगाया था कि बार-बार बताने के बावजूद ईलाज ठीक से नहीं किया गया और न ही उन्हें प्रोटोकॉल के हिसाब से वीआईपी कमरा मिला। मामला स्वास्थ्य मंत्री तक पहुंचा था, जिसको लेकर तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की गई थी। जांच कमेटी ने माना कि पूर्व उप राज्यपाल चन्द्रावती के ईलाज में कोताही बरती गई है और उस दौरान आपातकालीन विभाग के सीएमओ डॉ. कुलदीप ड्यूटी पर नहीं थे। जांच रिपोर्ट के आधार पर पीजीआई प्रबंधन ने आपात कालीन विभाग के सीएमओ डॉ. कुलदीप को छह माह के लिए निलंबित किया है। पीजीआई प्रबंधन ने भी माना है कि सीएमओ की लापरवाही रही है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।