ठंड में छत मिलने से बुजुर्ग महिला ने जताया साध-संगत का आभार

0
12
Humanity

हनुमानगढ़ (सच कहूँ/हरदीप सिंह)। जब अपनों पर दु:खों का पहाड़ टूटता है तो रिश्तेदार और परिवार भी एक पल के लिए साथ छोड़ जाते हैं। ऐसे में वो इंसान ये ही सोचेगा कि, जब अपनों ने ही मद्द के लिए हाथ नहीं बढ़ाया तो कोई गैर क्या उसकी मद्द करेगा? ऐसे में सिर्फ डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी ही हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं। बस मद्द की एक पुकार मिलनी चाहिए और वो पल भर में फरिश्तें बनकर पहुंच जाते हैं। इसकी ही एक उदहारण देते हुए स्थानीय ब्लॉक की साध-संगत ने एक जरूरतमंद बुजुर्ग विधवा महिला के दर्द पर मद्द का मरहम लगाते हुए उसके आंसूओं को पोंछने का काम किया।

 कुछ घंटों में आशियाना बना तो नहीं रहा खुशी का ठिकाना

कड़ाके की ठण्ड में जहां घरों में कैद रहकर भी लोगों को सर्दी से राहत नहीं मिल रही, खुले में रहने वाले परिवारों की क्या हालत होगी, इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। एक ऐसे ही परिवार के लिए फरिश्ते बने डेरा सच्चा सौदा के सेवादार, जिन्होंने झोंपड़ी में अपने परिवार सहित रह रही एक बुजुर्ग विधवा माता को कुछ ही घंटों में पक्का मकान तैयार करवाकर उसकी पीड़ा को समझा। जहां कुछ ही घंटों में खुद का आशियाना तैयार देख बुजुर्ग माता की खुशी का ठिकाना नहीं रहा वहीं डेरा सच्चा सौदा सेवादारों ने भी खुद को इसलिए भाग्यशाली समझा कि वे इस कड़ाके की ठण्ड में अपने परिवार सहित परेशान हो रही किसी बुजुर्ग विधवा माता के काम आ सके।

इस दौरान ब्लॉक भंगीदास गिरधारीलाल इन्सां ने बताया कि हनुमानगढ़ टाउन की पारीक कॉलोनी में रहने वाली बुजुर्ग विधवा माता भंवरी देवी अपने परिवार के सदस्यों के साथ एक झोंपड़ी में रहकर गुजर-बसर कर रही थी। गर्मी के दिनों में तो जैसे-जैसे इस परिवार ने झोंपड़ी में रहकर गुजारा कर लिया, लेकिन पिछले कुछ दिनों से बढ़ी सर्दी ने झोंपड़ी में रहने वाले माता भंवरी देवी के परिवार की मुसीबतें बढ़ा दी।

जिम्मेवारों, शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के सेवादारों, सुजान बहनों व साध-संगत ने बढ़-चढ़कर सेवाएं दी

गत दिनों इस बात का पता डेरा सच्चा सौदा के जिम्मेवारों को लगा तो उन्होंने माता भंवरी देवी को पक्का मकान बनाकर देने का हाथोंहाथ निर्णय लिया। इसके बाद निर्माण सामग्री एकत्रित की गई। फिर याद-ए-मुर्शिद दिवस पर साध-संगत ने भंवरी देवी के परिवार के सिर ढकने के लिए उन्हें पक्का आशियाना बनाकर दिया। आशियाना बनाने के कार्य में जिम्मेवारों, शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के सेवादारों, सुजान बहनों व साध-संगत ने बढ़-चढ़कर सेवाएं दी। वहीं कुछ ही घंटों में पक्का मकान तैयार देख भंवरी देवी व उनका परिवार साध-संगत का धन्यवाद करता नहीं थका। वहीं पार्षद विजेन्द्र साईं व रवि कुमार ने भी डेरा सच्चा सौदा सेवादारों के इस कार्य की प्रशंसा करते हुए मानवता भलाई के लिए किए जा रहे कार्यांे को अनुकरणीय बताया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।