हरियाणा में अर्थव्यवस्था तहस नहस : Selja

0
Kumari Selja

उर्वरक सब्सिडी जो पहले 80000 करोड़ रुपए था उसे घटा कर 71000 करोड़ रुपए कर दिया गया है  (Kumari Selja)

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। कांग्रेस की कुमारी शैलजा ने हरियाणा की अर्थव्यवस्था के तहस नहस होने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को कहा कि यह राज्य संकट के दौर से गुजर रहा है। कुमारी शैलजा ने राज्यसभा में आम बजट पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि वर्ष 1966 में हरियाणा का गठन हुआ था उसमें बाद 2014 तक उसका कर्ज बढकर कर 70 हजार करोड़ रुपए हो गया था। (Kumari Selja) अब इस राज्य पर कुल कर्ज बढकर करीब दो लाख करोड़ रुपए हो गया है । उन्होंने कहा कि वस्तु एवं सेवाकर व्यवस्था के लागू होने के बाद हरियाणा को सालाना तीन से चार हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि सतलुज हरियाणा लिंक नहर योजना पंजाब के साथ विवाद के कारण वर्षो से लंबित है ।

इस समस्या को केन्द्र सरकार को हल करना था लेकिन यह अब तक नहीं हो पाया है

  • हरियाणा में सुशासन के कुशासन में बदलने का आरोप लगाते हुए कहा है।
  • इस राज्य में हर पांच घंटे में एक महिला के साथ दुष्कर्म हो रहा है।
  • इसके बावजूद निर्भया कोष का उपयोग नहीं किया जा रहा है।
  • कुमारी शैलजा ने कहा कि बजट में आंगनबाड़ी सेविकाओं को स्मार्ट फोन देने की बात कही गयी है।
  • लेकिन कठोर परिश्रम करने वाली ए महिलाएं वेतन बढाने की मांग को लेकर देश में आन्दोलन कर रही है।
  • किसान सम्मान निधि योजना के शुरू किए जाने के दौरान इस पर 75000 करोड़ रुपए खर्च करने की बात कही गयी थी ।
  • लेकिन इस राशि को अब घटाकर 55000 करोड़ रुपए कर दिया गया है ।
  • उर्वरक सब्सिडी जो पहले 80000 करोड़ रुपए था उसे घटा कर 71000 करोड़ रुपए कर दिया गया है।
  • हरियाणा में हजारों उद्योग बंद हो गए हैं और वहां बेरोजगारी की दर बढकर 30 प्रतिशत हो गयी है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।