संगरूर पुलिस ने पकड़ी मेडिकल नशे की बड़ी खेप

0
Drugs Smuggler, Arrested, Police, Punjab

लाखों रुपये की कीमत की 1996 नशीली दवा की शीशियां व साढ़े 25 हजार गोलियां

  • गाड़ी सहित एक व्यक्ति काबू, एक फरार

संगरूर (गुरप्रीत सिंह)। हरियाणा के टोहाना इलाके से बाया संगरूर होते हुए पटियाला पहुंचाई जाने वाली दवा की इस बड़ी खेप को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर गाड़ी में सवार एक व्यक्ति को मौके पर ही काबू कर लिया, जबकि उसका एक साथी मौके से फरार हो गया। लाखों रुपये की कीमत की 1996 नशीली दवा की शीशियां व साढ़े 25 हजार गोलियां संगरूर पुलिस के लिए मेडिकल नशे के तौर पर पकड़ी गई यह एक बड़ी खेप मानी जा रही है।

एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू ने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर थाना मूनक की पुलिस ने गांव सुरजन भैणी के समीप नाकाबंदी की। वहां पुलिस ने सामने से आती एक महिंद्रा मैक्स गाड़ी को आती देखकर शक के आधार रोका। कार के पिछले हिस्से में सामान से भरी बोरियों की जांच करने पर पुलिस ने बोरियों में से 1996 दवा (एनरैक्स) की शीशियां व साढ़े 25 हजार गोलियां (कैरीसोमा) बरामद की।

गाड़ी में सवार 45 वर्षीय करतार सिंह निवासी चुली खुर्द जिला हिसार (हरियाणा) को गिरफ्तार कर लिया, जबकि उसका साथी सुरेश कुमार निवासी चुली खुर्द जिला हिसार मौके से फरार हो गया। पूछताछ के दौरान सामने आया कि उक्त दोनों तस्करों को गोलू निवासी किरड़ाण थाना आदमपुर जिला हिसार सप्लाई करता है। उक्त दवाओं की खेप को वह पटियाला इलाके में सप्लाई करने वाले थे। पुलिस ने करतार सिंह, सुरेश कुमार व गोलू के खिलाफ मामला दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी।

500 रुपये में एक शीशी व 10 गोलियां

एसएसपी सिद्धू ने बताया कि बरामद की गई उक्त दवा व गोलियों की बिक्री मेडिकल शॉप पर केवल डॉक्टर द्वारा लिखी पर्ची के आधार पर मरीज को दी जा सकती है, जबकि इसे बिना लाइसेंस बेचना या घर पर स्टोर करना गैरकानूनी है। गिरफ्तार किए गए उक्त व्यक्ति ने पूछताछ के दौरान बताया है कि दवा की एक शीशी व 10 गोलियां एक नशेड़ी को 500 रुपये में बेची जाती है। जबकि दवा की शीशी पर लिखी कीमत मात्र 95 रुपये है। इतनी भारी मात्रा में बरामद हुई मेडिकल नशे की इस खेप के तार कई जगहों पर जुड़ने की उम्मीद है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।