सचखंडवासी भरपाई इन्सां बनी शरीरदानी

0
187
Body-Donation

पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणा से समाज में आई जागृति

भिवानी (इन्द्रवेश दुहन)। डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी न सिर्फ जीते जी बल्कि इस जहां से जाने के बाद भी इन्सानियत के काम आते हैं। इसी क्रम में भिवानी शहर के खाड़ी मोहल्ला, दिनोद गेट निवासी सचखंडवासी माता भरपाई इन्सां (84) की पार्थिव देह मेडिकल रिसर्च हेतु मेरठ के इंस्टीटयूट आॅफ मैडिकल सार्इंस को दान की गई। जानकारी के अनुसार माता भरपाई इन्सां बीती रात्रि अपनी स्वांसों रूपी पूंजी पूर्ण कर कुल मालिक के चरणों में सचखंड जा विराजी। उन्होंने अपना पूरा जीवन मानवता भलाई कार्यों और राम-नाम के सुमिरन में गुजारा। स्थानीय जिम्मेवार सेवादार ने माता भरपाई इन्सां ने डेरा सच्चा सौदा सरसा से नामदान लिया हुआ था।

 मेडिकल रिसर्च के लिए मेरठ के मैडिकल इंस्टीट्यूट को दान की पार्थिव देह

पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए भरपाई इन्सां ने जीते जी ही मरणोपरांत शरीरदान का फॉर्म भरा हुआ था। बता दें कि शरीरदानी भरपाई इन्सां चार बेटियों की माता थी। वह अपने पीछे 10 दोहते-दोहतियों का भरा-पूरा परिवार छोड़ गई। उनकी अंतिम इच्छा थी कि उनकी मृत्यु उपरांत पार्थिव देह का दान मैडिकल रिसर्च के लिए किया जाए। उनकी बेटियों ने उनकी अर्थी को कांधा देकर महिला सशक्तिकरण की मिसाल भी कायम की। कांधा देकर बेटियों ने सचखंडवासी भरपाई इन्सां के शरीर को एंबुलैंस वैन तक पहुंचाया, जो मेरठ के मैडिकल इंस्टीट्यूट में शरीर को रिसर्च के लिए ले गई। इस मौके पर शहर के गणमान्य लोग व डेरा प्रेमी भी विशेष रूप से मौजूद रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।