दो पड़ोसी राज्यों के बीच घिनौनी राजनीति अति दुखद : मायावती

0
Disgusting Politics

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी(बसपा) अध्यक्ष मायावती ने राजस्थान कांग्रेस सरकार द्वारा विद्यार्थियों को घर भेजने के लिये खर्च हुए 36़ 36 लाख रूपये की मांग को अमानवीय बताते हुये कहा कि दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी राजनीति अति दुख:द है। मायावती ने शुक्रवार को ट्वीटकर कहा “राजस्थान की कांग्रेसी सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवा-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36.36 लाख रुपए और देने की जो माँग की है वह उसकी कंगाली व अमानवीयता को प्रदर्शित करता है। दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुखःद।”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक तरफ उत्तर प्रदेश छात्रों को घर भेजने के नाम पर मनमाना पैसा वसूल रही है और दूसरी ओर प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने के लिये बसों की बात करके राजनीति का खेल खेल रही है। मायावती ने ट्वीटकर कहा “राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से यूपी के छात्रों को अपनी कुछ बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है तो दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को यूपी में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात करके जो राजनीतिक खेल खेल कर रही है यह कितना उचित व कितना मानवीय?”

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि अम्फान तूफान के ताण्डव से पश्चित बंगाल में तबाही मचाई है। केन्द्र सरकार को आगे आकर राज्य सरकार को हालात सामान्य बनाने में मदद करनी चाहिये। उन्होंने कहा “ अम्फान’ तूफान के ताण्डव से खासकर पश्चिम बंगाल में जो व्यापक तबाही व बर्बादी हुई है वह अति-दुःखद। जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है। ऐसे में खासकर केन्द्र सरकार को आगे बढ़कर हर प्रकार से राज्य को वहाँ के हालात सामान्य बनाने में मदद करनी चाहिए।”

यह भी पढ़े – अम्फान चक्रवात लीची के लिए वरदान

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।