कोरोना के बावजूद जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेशकों की होड़, सात निवेशकों का 92202 करोड़ रुपये निवेश

0
Jio Platforms

नयी दिल्ली। कोरोना चुनौती के बीच मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स का निवेश जलवा जारी है और 45 दिनों में सात निवेशक जियो प्लेटफॉर्म्स में 19.90 प्रतिशत इक्विटी के लिए कुल 92,202.15 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं। जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक और केकेआर ने निवेश किया। शुक्रवार को पहले यूएई की मुबाडला और फिर कुछ घंटों बाद अमेरिका की सिल्वर लेक ने अतिरिक्त निवेश का ऐलान किया। दोनों ने मिलकर जियो प्लेटफॉर्म्स में 24 घंटों के भीतर 13640.40 करोड़ का निवेश कर डाला।

Reliance Jio Platform

अमेरीका की सिल्वर लेक और सहयोगी पार्टनर्स ने मिलकर 0.98 प्रतिशत इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 4,546.80 करोड़ रु के निवेश की घोषणा की है। यह सिल्वर लेक का जियो प्लेटफॉर्म्स में दूसरा इंवेस्टमेंट है। इससे पहले भी सिल्वर लेक पार्टनर्स ने 4 मई को जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.15 प्रतिशत इक्विटी के लिए 5,655.75 करोड़ का इंवेस्टमेंट किया था। सिल्वर लेक का कुल इंवेस्टमेंट बढ़कर अब 2.08 प्रतिशत इक्विटी के लिए 10,202.55 करोड़ रुपये हो गया है। इससे कुछ घंटे पहले अबूधाबी की मुबाडला ने इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 9,093.60 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की थी।

जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई है। ये एक “नेक्स्ट जनरेशन” टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल इकोसिस्टम और भारत के नंबर एक हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।