डेरा सच्चा सौदा अनुयायियों ने चार अस्पतालों में किया 56 यूनिट रक्तदान

0
Dera Sacha Sauda followers donate 56 units of blood in four hospitals

कोरोना के चलते रक्तदानियों के न आने से रक्त की भारी कमी से जूझ रहे ब्लड बैंक : बीटीओ (Blood Donation)

  • डेरा श्रद्धालु बोले-पूज्य गुरु जी पावन शिक्षाओं की बदौलत ही कर पा रहे हैं रक्तदान

सच कहूँ/रघबीर सिंह/वनरिन्दर मणकू लुधियाना। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी जरूरतमंदों की मदद के लिए हर वक्त तैयार रहते हैं। इसी क्रम में रक्त की भारी कमी से जूझ रहे ब्लड बैंकों की अपील पर रविवार को पंजाब के जिला लुधियाना की शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग के सदस्यों ने रेडक्रॉस सहित चार अस्पतालों को 56 यूनिट खूनदान किया। रक्त मिलने पर ब्लड बैंकों के ट्रांसफ्यूजन अधिकारियों ने राहत की साँस लेते डेरा श्रद्धालुओं का तहेदिल से धन्यवाद किया और डेरा श्रद्धालुओं की तरह अन्य रक्तदानियों से भी खूनदान करने की अपील की। डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं ने रेडक्रॉस को 7, सिविल हस्पताल को 14, सीएमसी अस्पताल को 14 और डीएमसी अस्पताल को 21 यूनिट रक्तदान किया।
ट्रयू ब्लड पंप के नाम से प्रसिद्ध डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालु रविवार सुबह होते ही जिले विभिन्न ब्लॉकों से अस्पतालों में पहुंचने शुरू हो गए। रक्तदान करने आए इन डेरा श्रद्धालुओं में महिलाएं भी अच्छी खासी संख्या में शामिल रहीं। इस मौके पर पंजाब के 45 मैंबर जसवीर सिंह इन्सां, 45 मैंबर यूथ सन्दीप इन्सां, 45 मैंबर श्रवण इन्सां ने बताया कि डीएमसी, सीएमसी अस्पताल, सिविल हस्पताल और रेडक्रॉस ने डेरा श्रद्धालुओं को उनके ब्लड बैंकों में खून की कमी के बारे में बताते रक्तदान करने की अपील की थी। इस मौके पर सीएमसी अस्पताल में 25 मैंबर पूर्ण चंद इन्सां, 25 मैंबर एसपी बंगड़, खूनदान समिति के रणजीत भंडारी इन्सां, सिविल अस्पताल में 25 मैंबर हरीश चंद्र शंटा, 15 मैंबर कृष्ण जुनेजा इन्सां, 45 मैंबर बहन कृष्णा इन्सां, लक्ष्मण लक्की इन्सां व खूनदान समिति के जगजीत इन्सां, डीएमसी अस्पताल और रेडक्रॉस में 15 मैंबर कुलदीप इन्सां, भंगीदास सत्यता देव इन्सां ने मोर्चा संभालते हुए विभिन्न अपनी ड्यूटी बाखूबी निभाई। इस मौके पर अन्य सेवादार भी उपस्थित थे। इन सेवादारों का कहना था कि ये सब पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की रहमत से ही संभव हो पा रहा है।

थैलेसीमिया और कैंसर जैसे रोगों से ग्रस्त मरीजों के उपचार में मददगार बने हैं डेरा श्रद्धालु : बीटीओ

डीएमसी हस्पताल की ब्लड ट्रांसफ्यूजन अधिकारी (बीटीओ) डॉ. अमरजीत कौर व रेडक्रॉस के बीटीओ ने डेरा श्रद्धालुओं का धन्यवाद करते कहा कि इनके कारण उनके अस्पताल में रूटीन में आने वाले थैलेसीमिया और कैंसर रोगियों का इलाज संभव हो रहा है। डॉ. अमरजीत कौर ने कहा कि डेरा श्रद्धालु कैंसर और थैलेसीमिया पीड़ितों के जीवन का आधार बने हुए हैं। आज कोरोना के दौर के कारण आम रक्तदानी अस्पतालों में जाने से डरते हैं, परंतु थैलेसीमिया और कैंसर रोगी का तो खून के बिना ईलाज संभव ही नहीं है। लॉकडाऊन दौरान लगातार डेरा श्रद्धालु घरों में निकल कर बड़ी संख्या में रक्तदान करते आ रहे हैं। वह डेरा श्रद्धालुओं का तहेदिल से धन्यवाद करते हैं।
रेडक्रास के डॉक्टर ने कहा कि कोरोना कारण ब्लड बैंक रक्त की कमी के साथ दो-चार होना पड़ रहा है। डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालु उनके एक फोन पर रक्तदान करने आ जाते हैं, जिस कारण लॉकडाऊन में भी वह लोगों को खून की सप्लाई बेहतर ढंग से करते रहे हैं। डेरा श्रद्धालुओं की जितनी भी प्रशंसा की जाए उतनी कम है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।