डेरा सच्चा सौदा अनुयायियों ने किया 55 यूनिट रक्तदान

0
Blood donation

सराहनीय: रक्त के कमी के चलते ब्लड ट्रांफ्यूजन अधिकारी ने किया था आह्वान (Blood Donation)

  •  ब्लड बैंक में रक्त की कमी को श्रद्धालुओं ने पूरा किया : डॉ. नीशा गुरेरा

  •  कोरोना काल में यमुनानगर के डेरा अनुयायी दर्जनों शिविर लगा कर चुके हैं सैकड़ों यूनिट रक्तदान

सचकहूँ/लाजपतराय यमुनानगर। मुकन्द लाल नागरिक हस्पताल ट्रामा सेंटर यमुनानगर ब्लड ट्रांफ्यूजन अधिकारी निशा गुरेरा के आह्वान पर डेरा सच्चा सौदा की शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग द्वारा रक्तदान शिविर लगाया गया। रक्तदान शिविर में सेवादारों द्वारा 55 यूनिट रक्तदान किया गया व ब्लड ट्रांफ्यूजन अधिकारी डॉ. निशा गुरेरा ने रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर ब्लड ट्रांफ्यूजन अधिकारी निशा गुरेरा ने कहा कि ब्लड बैंक में रक्त की कमी को देखते हुए उन्होंने डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों से रक्तदान शिविर लगाए जाने का अनुरोध किया था। हमारे द्वारा किए गए आह्वान पर सेवादारों ने तुरंत रक्तदान शिविर लगाया और 55 यूनिट रक्तदान किया। उन्होंने कहा कि हमें जानकारी मिली है कि ये सेवादार अपने पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की प्रेरणा से मानवता भलाई के 134 कार्य करते हैं।

जिनमें जीते जी रक्तदान, मरणोपरांत अंगदान करते हैं, जो बहुत ही सराहनीय कार्य हैं। जिनसे हर किसी को प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों द्वारा करीब दर्जनभर से ज्यादा रक्तदान कैंप लगाकर सैकड़ों यूनिट रक्तदान किया गया है। वही उन्होंने कहा कि ब्लड बैंक में जब भी रक्त की विशेष जरूरत पड़ी, तभी रक्तदान के लिए डेरा अनुयायी मौजूद मिले। जिसके लिए इनकी जितनी भी सराहना की जाए वह कम है। इस अवसर पर 45 मैंबर चमनलाल इन्सां, 45 मैंबर उषा इन्सां, सतपाल इन्सां, सुभाष पाहवा, रमेश रावत, राजेन्द्र खिजराबाद, सोनू तलाकौर, चिंटू इन्सां, गुरपाल सिंह, प्रिंस कुमार, धर्मेन्द्र इन्सां, अमन इन्सां, रविन्द्र, हर्ष कुमार, सुनील कुमार, रोहित कुमार आदि उपस्थित थे।

सेवा कार्यों में लोगों के प्रेरणा स्रोत है डेरा अनुयायी

वहीं रक्तदान करने पहुंचे एसबीआई बैंक शाखा यमुनानगर के प्रबंधक सतपाल सिंह ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा का मानवता भलाई कार्यों में विशेष योगदान है, जिससे उन्हें विश्व में कीर्तिमान मिला हुआ है और लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं।

कोरोना काल में लगातार लगाए रक्तदान शिविर

45 मैंबर उषा इन्सां ने बताया कि कोरोना काल में जिला यमुनानगर की साध-संगत द्वारा लगातार रक्तदान शिविर लगाए गए, ताकि थैलीसीमिया व अन्य मरीजों को रक्त की कमी न हो। उन्होंने कहा कि सेवादारों में पूज्य गुरू जी की प्रेरणा से ही सेवा कार्यों की शक्ति मिलती है।

बार-बार करूंगा रक्तदान

इस अवसर पर कंड्रोली निवासी रोहित कुमार ने बताया कि वह पहली बार रक्तदान करने पहुंचे हैं। आज उन्हें बहुत अच्च्छा लग रहा है। आज मैं यही प्रेरणा लेकर जा रहा हूँ कि अब में बार-बार रक्तदान करूंगा, जिससे मेरे द्वारा किया रक्तदान किसी जरूरतमंद के काम आए। आज मैं गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ।

मानवता भलाई कार्यों में अग्रणी रहते हैं सेवादार

45 मैंबर चमनलाल इन्सां ने कहा कि जिला यमुनानगर में मानवता भलाई कार्यों के लिए बनाई गई सभी समितियों के सेवादार मानवता भलाई कार्यों में हमेशा अग्रणी रहते हैं। चाहे वह सफाई अभियान हो, रक्तदान कैंप या पौधारोपण, सभी नेक कार्यों में बढ़ चढ़कर भाग लेते हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।