डेरा श्रद्धालुओं ने हरियाणा के एक भटके युवक को परिवार से मिलाया

0
10
Humanity

तीन दिन तक डेरा श्रद्धालुओं ने की सेवा

सच कहूँ/गुरप्रीत सिंह  संगरूर। पवित्र गुरूगद्दी माह के पहले दिन ही ब्लॉक संगरूर के डेरा श्रद्धालुओं ने समाज भलाई का कार्य करते कई दिनों से रास्ता भटके एक युवक को सही सलामत उस के पारिवारिक सदस्यों से मिलाया।  इस संबंधी जानकारी देते ब्लॉक संगरूर के अथक सेवादार हरविन्दर सिंह बब्बी इन्सां ने बताया कि उसके पास के गांव खिल्लरियां से प्रेमी तरनजीत सिंह इन्सां का फोन आया कि गांव के पास एक युवक बेसुध हालत में घूम रहा है और उसे कुछ पता नहीं चल रहा कि उसने कहां जाना है और क्या करना है? फोन सुनने के बाद बब्बी व अन्य डेरा श्रद्धालु ने जब उस युवक तक पहुंचे तो पता चला कि किसी ने उस व्यक्ति अति नशीली वस्तु खिला दी है, जिस कारण वह बेसुध है।
उन्होंने उक्त युवक को नामचर्चा घर में लाया जहां उसकी सेवा की, उसे नहलाया, खाना खिलाया और उसकी संभाल की। हरविन्दर सिंह बब्बी इन्सां ने बताया कि धीरे-धीरे उसे याद आने लगी तो पता पूछने पर उस ने अपना नाम सुरेश कुमार बताया और यह भी बताया कि वह जिला फतेहाबाद (हरियाणा) में रहता है। फिर ब्लॉक संगरूर के डेरा श्रद्धालु रिपन इन्सां ने इस संबंधी फतेहाबाद के प्रेमियों के साथ बातचीत की और फोटो वगैरह भेजकर उक्त युवक संबंधी पूछा। फिर प्रेमियों की ओर से मेहनत के बाद यह पता चल गया कि यह गांव ननहेड़ी का रहने वाला है और फिर उनके पारिवारिक सदस्यों तक भी संपर्क हो गया। परिवार की ओर से कुछ व्यक्तियों को साथ लेकर उक्त युवक को लेजाने के लिए संगरूर भेज दिया।
ट्रक पर संगरूर पहुंचे भगवान दास नामक व्यक्ति ने बताया कि वह कुछ दिन पहले ट्रक पर बालियां गांव में आए थे और सुरेश उसी ट्रक का कंडक्टर था। उन्होंने बताया कि किसी व्यक्ति ने सुरेश को कोई नशीली वस्तु खिला दी, जिस कारण वह बेहोश हो गया और वह वहां से कहीं चला गया। उन्होंने बताया कि हमनें इसे ढूंढने की काफी कोशिशें की परंतु तीन दिन बाद इसके परिवार की ओर से उनको फोन करके सारी बातचीत बताई गई। उन्होंने कहा कि डेरा श्रद्धालुओं की इस भलाई कार्य के लिए जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है, जिन्होंने इस नौजवान की संभाल कर इंसानियत का फर्ज निभाया। आज स्थानीय नामचर्चा घर में डेरा प्रेमियों की ओर से उक्त नौजवान को सही सलामत उसके घर के लिए रवाना कर दिया। इस मौके प्रेमी तरनजीत सिंह इन्सां, जगराज सिंह इन्सां, रिपन इन्सां, भुपिन्दर सिंह इन्सां, काला इन्सां के अलवा ओर भी डेरा प्रेमी बड़ी संख्या में मौजूद थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।