कोरोना संकट में भी डेरा श्रद्धालुओं ने संभाला मानवता का मोर्चा…

0
Welfare Work

जिला पटियाला के डेरा श्रद्धालुओं ने राजिन्द्रा अस्पताल में लगाया रक्तदान कैंप, 72 यूनिट रक्तदान

पटियाला(सच कहूँ/खुशवीर सिंह तूर)। कोरोना संकट दौरान उपजी मुश्किल घड़ी मौके भी डेरा सच्चा सौदा के सेवादार मानवता भलाई कार्यों में आगे आ रहे हैं। डेरा सच्चा सौदा के स्थापना दिवस और जाम -ए इन्सां दिवस मौके जिला पटियाला की शाह सतनाम सिंह जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सेवादारों की ओर से सरकारी राजिन्द्रा अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्तदान कैंप लगाया गया। इस मौके सेवादारों की ओर से 72 यूनिट रक्तदान दिया गया। बता दें कि राजिन्द्रा अस्पातल के प्रशासन की ओर से कोरोना संकट कारण रक्त की कमी चलते डेरा सच्चा सौदा के एडमिल ब्लाक के पास पहुंच करते रक्तदान देने की मांग की गई थी, जिसके बाद ही आज यहां ब्लड बैंक में रक्तदान कैंप शुरू किये गए हैं।

राजिन्द्रा अस्पताल की ओर से डेरा सच्चा सौदा को भेजा गया था अपील पत्र

उल्लेखनीय है कि लगभग एक महीना जिला पटियाला की साध-संगत यहां ब्लड बैंक में पहुंच कर रोजाना 30 से 40 यूनिट के करीब रक्त दान करेगी ताकि अस्पातल में एमरजैंसी मामलों मौके ब्लड की जरूरत को पूरा किया जा सके। आज रक्तदान कैंप दौरान समाज सेवीं सतीन्द्र कौर वालिया, थाना सिविल लाईन के एसएचओ राहुल कौंसिल, शक्ति यूथ हाऊस क्लब के मैंबर हरदीप सिंह हैरी ने इस कैंप में विशेष तौर पर शिरकत की। आज के कैंप दौरान खास बात यह रही कि सरकार की हिदायतों अनुसार सोशल डिस्टैंस का पूरा ख़्याल रखा गया और सेवादारों की ओर से पूरे अनुशासन में रह कर अपनी बारी अनुसार ब्लड बैंक अंदर जाकर रक्तदान किया गया।

डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों का जज्बा बेमिसाल : सतीन्द्र कौर वालिया

इस मौके समाज सेवीं सतीन्द्र कौर वालिया ने डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों की प्रशंसा करते कहा कि इस महामारी के संकट में इन वॉलिंटियरों की ओर से इतनी बड़ी मात्रा में रक्तदान देना इंसानियत का सबसे पुण्य वाला काम है। उन्होंने कहा कि वह भी रक्तदान के क्षेत्र के साथ जुड़े हुए हैं और राजिन्द्रा अस्पताल में थैलासीमिया के बच्चों सहित एमरजैंसी मामलों के लिए रक्त की बहुत अधिक जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि रक्त की कमी के चलते उनकी तरफ से भी सोशल मीडिया और रक्तदान के लिए आगे आने का न्योता दिया गया है।

उन्होंने कहा कि डेरा सच्चा सौदा के यह श्रद्धालु हर आपदा के मौके आगे खड़े होते हैं और वह इनके जज्बे से बहुत प्रभावित हैं। इस मौके शक्ति यूथ हाऊस क्लब के मैंबर हरदीप हैरी ने कहा कि उनको डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों की ओर से रक्तदान के क्षेत्र में से जा रही अनोखी सेवा पर गर्व है। जो कि हर मौके बड़ी संख्या में आगे आते हैं। इस मौके ब्लड बैंक की इंचार्ज डा. रजनी ने सेवादारों के अनुशासन और सोशलडिस्टैंस की तारीफ करते कहा कि इनकी तरफ से पूरे अनुशासन के साथ कैंप लगाया जाता है और रक्तदानियों में बड़ा उत्साह होता है। इस मौके डॉ शशी प्रभा, डॉ. रवनीक, डा. जसप्रीत कौर, डॉ. सुखविन्दर सिंह, राजनीतिक विंग के मैंबर करनपाल पटियाला, मलकीत सिंह, सागर इन्सां, मक्खण सिंह, नानक इन्सां , सनौर और समाना के पंद्रह मैंबर और व सेवादार उपस्थित थे।

डेरा सच्चा सौदा की ओर से प्रतिदिन ही रक्तदान देने का दिया भरोसा : डॉ. हरजिन्दर सिंह

सरकारी मैडीकल कॉलेज के प्रिंसीपल डॉ. हरजिन्दर सिंह ने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में डेरा सच्चा सौदा के वॉलिंटयरों की ओर से एमरजैंसी में रक्तदान करना महान काम है। उन्होंने कहा राजिन्द्रा अस्पताल में कोरोना के साथ सबंधित भी 61 मरीज हैं। इसके अलावा थैलेसीमिया के बच्चों सहित ऐमरजैसी मामलों के लिए रक्त की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लॉकडाऊन के चलते डोनरों की कमी आ रही है, परन्तु फिर भी वह डोनरों के लिए पासों की व्यवस्था कर रहे हैं। उन्होंने कहा कहा डेरा सच्चा सौदा के वॉलिंटियरों की ओर से उनको रोजमर्रा की रक्तदान देने का भरोसा दिया गया है, जिस संबंधी वह इनके धन्यवादी हैं।

रक्त के बिना जिंदगी बेकार नहीं जाने दी जायेगी: हरमिन्द्र नोना

45 मैंबर हरमिन्दर नोना ने कहा कि राजिन्द्रा अस्पातल के प्रशासन की ओर से अपील पत्र देने के बाद यहां रक्तदान कैंप लगाया गया है और जिस समय बलड बैंक में खून की जरूरत रहेगी, डेरा श्रद्धालु बिना समय गवाएं हमेशा रक्तदान करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट की मुश्किल घड़ी में किसी भी मरीज की जिंदगी खून से बिना बेकार नहीं जाने दी जायेगी, क्योंकि पूज्य गुरू जी की ओर से यही प्रेरणा दी गई है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।