महिला डॉक्टर से दुर्व्यवहार, व्यक्ति ने माफी मांगकर छुड़वाई जान

0
Demand, Women Police, Women Ward, Doctor, Punjab

अबोहर सिविल अस्पताल में डॉ. सुप्रिया चौधरी से दुर्व्यवहार मामला

अबोहर (सुधीर अरोड़ा)। स्थानीय सिविल अस्पताल की महिला चिकित्सक के साथ गत दिवस एक प्रसुता के पति द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने के मामले में शनिवार को अस्पताल के डॉक्टरों ने करीब 2 घंटे तक रोष स्वरूप कामकाज बंद रखा।

दुर्व्यवहार करने वाले व्यक्ति ने डॉक्टर से माफी मांगी, जिसके बाद मामला कुछ ठंडा पड़ा। अस्पताल में इस घटना की जांच के लिए पहुंचें जिला सिविल सर्जन को डॉक्टरों ने आए दिन होने वाली ऐसी घटनाआें की रोकथाम संबंधी ज्ञापन सौंपा। इस घटना की जांच हेतू सिटी पुलिस अस्पताल पहुंची और डॉक्टर व डॉक्टर से दुर्व्यवहार करने वाले व्यक्ति के बयान दर्ज किए।

डॉक्टरों व स्टाफ ने दो घंटे बंद रखा काम

जानकारी के अनुसार महिला चिकित्सक डॉ. सुप्रिया चौधरी से गत दिवस हुए दुर्व्यवहार के मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने के विरोध स्वरूप शनिवार को सभी डॉक्टरों व स्टाफ ने दोपहर 12 से दो बजे तक कामकाज ठप्प रखा।

इस मौके पर सुप्रिया चौधरी व अस्पताल स्टाफ ने जिला सिविल सर्जन को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि आए दिन होने वाली ऐसी घटनाआें के कारण ही अस्पताल में तैनात डॉक्टर अपने तबादले करवाने को मजबूर हो रहें हैं।

यदि ऐसा ही हाल रहा तो इसका खामियाजा सीधे रूप में अबोहर वासियों तथा क्षेत्रवासियों को भुगतना पड़ेगा क्योंकि रोज की होने वाली ऐसी चिकचिक से धीरे धीरे डॉक्टर प्लायन कर जाएंगे। मौके पर मौजूद सिविल अस्पताल के अतिरिक्त प्रभारी डॉ. युधिष्टर चौधरी ने कहा कि अस्पताल में करीब 15 कैमरे लग चुके हैं एक लेडीज वार्ड ही कैमरों से वंचित है जिसमें शीघ्र ही कैमरे लगा दिए जाएंगे।

महिला वार्ड में महिला पुलिस तैनात करने की मांग

पुलिस द्वारा जांच एवं कार्रवाई के लिए अस्पताल में बुलाए गए प्रसूता के परिजनों को सिविल सर्जन एंव अन्य डॉक्टरों ने गत दिवस की घटना पर खूब फटकार लगाई इतना ही नहीं प्रसूता के परिजनों ने भी प्रसूता के पति द्वारा दुर्व्यवहार करने पर खूब कोसा व डॉ. सुप्रिया चौधरी सहित सभी डॉक्टरों से गत दिवस हुई घटना के लिए माफी मांगी। इधर पुलिस ने भविष्य में उक्त परिवार द्वारा ऐसी घटना की पुर्नावृति रोकने के लिए लिखित में माफीनामा भी लिखवाया।

डॉक्टरों व स्टाफ ने जिला सिविल सर्जन व थाना नंबर 1 के प्रभारी गुरमीत सिंह से मांग की है कि अस्पताल के लेडीज वार्ड में डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए महिला पुलिस तैनात की जाए व कैमरे लगाए जाएं। लेबर रूम में पुरूषों के अधिक समय तक ठहरने पर प्रतिबंध लगाया जाए, जिस पर सिविल सर्जन ने कहा कि डॉक्टरों व स्टाफ से आए दिन हो रही ऐसी घटनाएं चिंतनीय विषय है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।