गाजियाबाद में धारा 144

0
Delhi Violence

 तीन बॉर्डर किए गए सील

नई दिल्ली (एजेंसी)। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हालात बदतर होते जा रहे हैं। नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के नाम पर दिल्ली की सड़कों पर शुरू हुआ बवाल अभी तक थमा नहीं है। पिछले तीन दिनों में देश की राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा हुई है, जिसमें अभी तक 17 लोगों की जान चली गई है। हालात नियंत्रण में बनाए रखने के लिए दिल्ली पुलिस ने अपने एक हजार हथियारबंद जवान भी तैनात किए हैं। मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए दिल्ली से सटे यूपी के जिलों में भी खासी सतर्कता बरती जा रही है।

  • एक ओर जहां नोएडा पुलिस ने सीमा पर जवानों की तैनाती बढ़ा दी है।
  • दूसरी ओर गाजियाबाद प्रशासन ने एहतियातन जिले में धारा 144 लगा दी है।
  • नॉर्थ दिल्ली में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए गए हैं।
  • जाफराबाद में धरने पर बैठीं महिलाओं को हटाकर रास्ता खाली करा लिया गया है।

गाजियाबाद से सटे तीन बॉर्डर किए गए सील

दिल्ली हिंसा को देखते हुए नार्थ-ईस्ट दिल्ली की तरफ से गाजियाबाद आने वाले 3 बॉर्डर सील कर दिए गए हैं।

अगर वक्त पर लग गया होता कर्फ्यू तो इतनी जानें नहीं जाती

  • पुलिस कार्रवाई को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।
  • बताया जा रहा है कि दिल्ली के हिंसाग्रस्त इलाकों में लगाई गई धारा 144 जब पूरी तरह फेल हो गई तो कर्फ्यू क्यों नहीं लगाया गया।
  • दिल्ली पुलिस के पास तमाम तरह की जानकारी थी।
  • रविवार को दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा हुई।
  • सार्वजनिक एवं निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया।
  • हिंसा की जो तीव्रता थी, दिल्ली पुलिस ने उसे धारा 144 के जरिए नियंत्रित करने का प्रयास किया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।