कोरोना: केंद्र से गंभीर मरीजों की प्लाज्मा थेरेपी की अनुमति मांगेगी दिल्ली सरकार

0
plasma therapy

चार गंभीर मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी का परीक्षण किया गया (Plasma Therapy)

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। दिल्ली में कोरोना वायरस के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी के इस्तेमाल के नतीजे उत्साहवर्धक रहे हैं और सरकार जल्दी ही गंभीर मरीजों के उपचार के लिए केंद्र से इसकी अनुमति मांगेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आईएलबीएस के प्रमुख डाक्टर शिवकुमार सरीन ने मीडिया से शुक्रवार को बातचीत में कहा कि मंगलवार को एलएनजेपी के कोरोना के चार गंभीर मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी का परीक्षण किया गया। (Plasma Therapy) चारों मरीज आईसीयू में थे और प्लाजमा थेरेपी का परीक्षण इन पर उत्साहवर्धक रहा। दो को संभवत: जल्दी छुट्टी मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि आज दो-तीन और मरीजों पर इसका ट्रायल किया जाएगा।

  • केंद्र से फिलहाल सीमित इस्तेमाल की मंजूरी है
  • अगले सप्ताह केंद्र से गंभीर मरीजों पर प्लाज्मा के इस्तेमाल की अनुमति मांगी जाएगी।

डा. सरीन ने कहा कि कोरोना मरीज के प्रथम चरण में प्लाज्मा थेरेपी कामयाब

दोनों ने कोरोना से ठीक हुए मरीजों से अपील की कि वह दूसरे संक्रमितों की जान बचाने के लिए अपना खून दान करें। उनके आवागमन की पूरी व्यवस्था सरकार करेगी और उन्हें कोई दिक्कत नहीं होगी। डा. सरीन ने कहा कि कोरोना मरीज के प्रथम चरण में प्लाज्मा थेरेपी कामयाब है और इस विधि से उपचार की उम्मीद बंधी है हालांकि इस विधि को पूरी तरह ठीक होने का तरीका नहीं माना जा सकता।

  • पहले चरण में यह वायरस शरीर में प्रवेश करता है।
  • दूसरे में फेफड़ों पर असर करता है और तीसरे में शरीर में फैलता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।