थम नहीं रहा दिल्ली हिंसा में मौत का आंकड़ा, अब तक 46 की मौत

0
Delhi Violence

दिल्ली में हिंसा की अफवाह से अफरा-तफरी (Delhi Violence)

नई दिल्ली (सच कहूँ)। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 46 लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसा मामले में अब तक 334 एफआईआर दर्ज की जाच चुकी है और 33 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। सोशल मीडिया पर पूरी नजर रखी जा रही है। बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में तीन दिनों तक हुई (Delhi Violence)हिंसा के बाद रविवार शाम राजधानी के कई जिलों में हिंसा की अफवाह उड़ने से लोगों के बीच अफरा-तफरी मच गई जिसके बाद दिल्ली पुलिस को स्पष्ट करना पड़ा कि स्थिति शांतिपूर्ण है।

दिल्ली दंगों पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘हमारी शक्तियों की सीमाएं हैं

सीजेआई एसए बोवड़े ने कहा कि हम यह नहीं कह रहे हैं कि लोगों को मरना चाहिए, लेकिन इस तरह का दबाव कोर्ट नहीं संभाल सकता। यह उम्मीदें होती है कि यह अदालत दंगा रोक सकती है। हम केवल एक बार कुछ हो जाने के बाद ही कुछ कर सकते हैं। हम पर एक तरह का दबाव महसूस होता है। सीजेआई एसए बोवड़े ने कहा कि ऐसा लगता है जैसे कि अदालत जिम्मेदार है। हम अखबारों को भी पढ़ते हैं, हम इस मामले को सुनेंगे लेकिन यह समझना होगा कि अदालत घटना के बाद आती है। कोर्ट इसे रोक नहीं सकता. हम शांति की अपील करते हैं लेकिन हम जानते हैं कि हमारी शक्तियों की सीमाएं हैं।

असामाजिक तत्व पर रखी जा रही है नजर

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकरी ने कहा कि असामाजिक तत्वों ने दंगे की अफवाह फैलाकर लोगों के बीच अफरा-तफरी मचाने का काम किया है। किसी भी इलाके में कोई घटना नहीं हुई है। (Delhi Violence)अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी मनदीप सिंह रंधावा ने कहा कि पश्चिम दिल्ली, दक्षिण पूर्वी दिल्ली, मदनपुर खादर, राजौरी गार्डन, हरि नगर, और ख्याला से कुछ कॉल मिले। इन स्थानों पर स्थिति सामान्य है।

  • पुलिस सोशल मीडिया की निगरानी कर रही है।
  • अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।
  • पूरे शहर में स्थिति सामान्य है।
  • वरिष्ठ अधिकारी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।
  • अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की लोगों से अपील की है।
  • दिल्ली पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि हिंसा की खबर अफवाह है।
  • पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने और किसी भी अफवाह में न आने की अपील की है।
  • कुछ अराजक तत्व ऐसी अफवाहे फैला रहे हैं जिससे शांति व्यवस्था में बाधा आए।
  • लोगों को आगाह किया जाता है कि ना तो इन अफवाहों को फैलाएं और ना इन पर भरोसा न करें।

पटरी पर लौट रही है जिंदगी, लेकिन अभी भी डर का माहौल

पूरी दिल्ली में कानून व्यवस्था पूर्णत: नियंत्रण में है और स्थिति शांत है। पश्चिमी दिल्ली के डीसीपी दीपक पुरोहित ने भी एक ट्वीट करते हुए लिखा, ‘अफवाह सबसे बड़ा दुश्मन है। एक अफवाह फैल रही है कि पश्चिमी दिल्ली के ख्याला-रघुबीर नगर में तनाव फैल गया है। लेकिन यह सच नहीं है। सभी लोगों से अनुरोध है कि वो शांत रहें, माहौल पूरी तरह शांत है।

दिल्ली सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया

इस बीच हिंसा की चपेट में आए लोगों के घावों पर मरहम लगाने की कोशिश शुरू हो गई है। दिल्ली सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया था। पहले दिन 69 लोगों ने आवेदन भी किए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि हिंसा प्रभावित इलाके से मुआवजे के लिए 69 व्यक्तियों के आवेदन फॉर्म मिले हैं। मुआवजे के लिए आवेदन करने वाले इन सभी लोगों को 25 हजार रुपये की फौरी मदद मिल जाएगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।