निसर्ग’ ने महाराष्ट्र में मचायी भारी तबाही

0
Cyclone Nisarga

नयी दिल्ली। महाराष्ट्र में बुधवार को चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के कारण 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चली जिससे कई मकानों और वाहनों के क्षतिग्रस्त होने के साथ-साथ बड़ी संख्या में पेड़ और बिजली के खंभे गिर गये। महाराष्ट्र में चक्रवाती तूफान के कारण माेबाइल नेटवर्क भी बाधित हुआ। चक्रवाती तूफान आज दोपहर बाद 1230 बजे महाराष्ट्र के अलीबाग में समुद्र तट से टकराया जिसके कारण महाराष्ट्र के कई क्षेत्रों में भारी बारिश हुई। इस दौरान रायगढ़ जिले में कई पेड़ जड़ से उखड़ गये और बिजली के खंभे गिर गये।

Cyclone Nisarga

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ अब कमजोर पड़ने लगा है और हवाओं की रफ्तार 120 किलोमीटर प्रतिघंटे से घटकर 90-100 किलोमीटर प्रतिघंटे हो गई है। आईएमडी ने एक बुलेटिन में जानकारी दी, “यह (चक्रवाती तूफान) देर रात तक और कमजोर हो जाएगा।” मुंबई में चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश हुई लेकिन तूफान के कमजोर पड़ते हुई शहर के कुछ हिस्सों में लोगों को सड़कों पर देखा गया और दुकानें फिर से खुल गईं।

इससे पहले मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विमानों के परिचालन को 1900 बजे तक स्थगित कर दिया गया था। मौसम में सुधार होने के साथ हवाई अड्डे पर विमानों का परिचालन बहाल हो गया। आईएमडी ने ‘निसर्ग’ के कमजोर पड़ने पर मुंबई, ठाणे और रायगढ़ जिलों के लिए गुरुवार के लिए चेतावनी जारी नहीं की है। आईएमडी ने मुंबई के लिए ग्रीन अलर्ट (हल्की से लेकर मध्यम स्तर की बारिश) और पालघर के लिए ऑरेंज अलर्ट (भारी से बहुत भारी बारिश) जारी किया है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।