चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ ने महाराष्ट्र में दी दस्तक

0
Cyclone Nisarga

निसर्ग’ से निपटने के लिए ठाणे पहुंची एक अन्य एनडीआरएफ टीम

ठाणे। चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के बुधवार को महाराष्ट्र में रायगढ़ जिले के अलीबाग के पास जमीन से टकराने की प्रकिया शुरू हो गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बुधवार को यह जानकारी दी। आईएमडी के राष्ट्रीय मौसम पूवार्नुमान केंद्र के अनुसार चक्रवाती तूफान ने मुंबई के दक्षिण में 95 किलोमीटर दूर अलीबाग से 40 किलोमीटर की दूरी पर दस्तक दी है। चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ गुजरात के सूरत से दक्षिण में 325 किलोमीटर की दूरी पर है।

आईएमडी के अनुसार चक्रवाती तूफान के कारण अगले 24 घंटों के दौरान उत्तरी कोंकण (मुंबई, पालघर, ठाणे, रायगढ़ जिलों) में और उत्तरी मध्य महाराष्ट्र के अधिकतर स्थानों पर बारिश या भारी बारिश हो सकती है। दक्षिण कोंकण( रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों) और गोवा, दक्षिण गुजरात क्षेत्र (वलसाड, नवसारी, डांग, दमन, दादरा व नगर हवेली और सूरत जिलों) में भी अगले 24 घंटों के दौरान बारिश या भारी बारिश होने का पूवार्नुमान है।

Cyclone Nisarga

महाराष्ट्र में चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की एक अन्य टीम नागपुर से ठाणे जिले में भेजी गयी है। महाराष्ट्र के अलीबाग में चक्रवात निसर्ग दस्तक दे चूका हैं इसी के साथ ही मुंबई में तेज हवा और बारिश जारी है। ठाणे महानगरपालिका (टीएमसी) की क्षेत्रीय आपदा प्रबंधन शाखा (आरडीएमसी) के प्रमुख संतोष कदम ने बताया कि भयंदर के उट्टन तट पर एनडीआरएफ की एक टीम को पहले ही तैनात किया गया है जहां कई मछुआरों के परिवार रहते हैं।

मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान मछली पकड़ने के लिए गयीं सभी 577 नाव पालघर लौट गई हैं। जिला प्रशासन ने बुधवार को चक्रवाती तूफान के तट से टकराने से पहले नावों को सुरक्षित वापस लाने के लिए तट रक्षकों, मत्स्य विभाग और नौसेना से मदद ली है। दहानु, पालघर, वसई, तलसारी तालुक में समुद्र के किनारे और निचले स्थानों पर कच्चे मकानों में रहने वाले 15 हजार से अधिक लोगाें को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। एनडीआरएफ की दो टुकड़ियां पहले से ही पड़ोसी जिले पालघर में तैनात की गई हैं।

पालघर के जिलाधिकारी डॉ. कैलाश शिंदे और ठाणे के जिलाधिकारी राजेश नरवेकर ने निषेधाज्ञा जारी की है और समुद्र तट के पास लोगों की मछली पकड़ने और अन्य गतिविधियों पर पाबंदी लगाई है। यह आदेश चार जून तक जारी रहेगा। एनडीआरएफ कमांडेंट राजेन्द्र पाटिल ने बताया कि एसडीआरएफ और टीडीआरएफ की एक-एक टीम ठाणे में पहले से ही तैनात की गई है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।