साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट 

0
Cyber-security-expert

आपने साइबर अटैक या साइबर फ्रॉड के बारे में तो जरूर सुना होगा अगर नहीं सुना तो हम बता देते हैं कि वह अपराध जो डिजिटल दुनिया में किए जाते हैं उन्हें साइबर फ्रॉड कहते हैं। आॅनलाइन अपराधों को रोकने के लिए साइबर सिक्योरिटी कोर्स कराया जाता है। मौजूदा समय में यह कोर्स काफी लोकप्रिय हो रहा है क्योंकि इसमें रोजगार के काफी अच्छे अवसर मिल जाते हैं। यदि आपको इंटरनेट और डिजिटल दुनिया अत्यधिक पसंद है तो आप साइबर सिक्योरिटी कोर्स कर सकते हैं। आज सच कहूँ करियर डेस्क आपको बताएगा कि साइबर सिक्योरिटी कोर्स क्या है? साइबर सिक्योरिटी कोर्स में आप कैसे अपना भविष्य संवार सकते हैं। साथ ही हम जानकारी देंगे की साइबर सिक्योरिटी कोर्स को करने की योग्यता कितनी होनी चाहिए। इसके अलावा नौकरी के कौन-कौन से अवसर इस कोर्स को करने के बाद आपको मिल सकते हैं।

क्या है साइबर सिक्योरिटी कोर्स?

साइबर सिक्योरिटी कोर्स इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का एक विशेष क्षेत्र है जिसमें छात्रों को साइबर क्राइम रोकने और इंटरनेट सुरक्षा के लिए कौशल और ज्ञान दिया जाता है। आज हमारे जीवन में कंप्यूटर इंटरनेट काफी अधिक महत्वपूर्ण है और इसीलिए हम अपने जीवन के अनेकों कार्य इंटरनेट की मदद से करते हैं। लेकिन समस्या उस समय आती है जब कोई दूसरा इंसान हमारी निजी जानकारी प्राप्त करने के बाद हमें नुक्सान पहुंचाता है। जिस तरह से आज इंटरनेट और कंप्यूटर क्षेत्र अत्यधिक प्रगति कर रहा है उसी तरह साइबर क्राइम यानी आॅनलाइन अपराध भी बढ़ते जा रहे हैं। इन्हीं आॅनलाइन फ्रॉड्स को रोकने के लिए साइबर सिक्योरिटी कोर्स करवाया जाता है। आपकों बता दें कि इंटरनेट के माध्यम से होने वाले अपराध जैसे- क्रेडिट कार्ड चोरी, ब्लैक मेलिंग , स्टॉकिंग, आॅनलाइन ठगी आदि इस समय बहुत अधिक बढ़ रहे हैं जिन पर कंट्रोल करना साइबर सुरक्षा एक्सपर्ट का काम होता है।

ये हैं साइबर सिक्योरिटी कोर्स

  • Computer Science with Cyber Security and Quick Heal
  • BCA with Microsoft cloud computing &cyber secure
  • BE Information Technology with IBM
  • BTech in Computer science engineering with Cyber security and forensic
  • BTech in Computer science eng. with cyber security & Quick heal
  • IT Management and Cyber Security
  • BSc in cyber security BCA Hons in cyber security

साइबर सिक्योरिटी कोर्स में अंडर ग्रेजुएट, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स करवाए जाते हैं। निम्नलिखित कुछ साइबर सिक्योरिटी कोर्स की जानकारी हमने आपको सच कहूँ करियर के इस अंक में दी है। इसके अलावा भी कहीं कॉर्स करवाए जाते हैं। लेकिन उपरोक्त कोर्स में दाखिल लेने के बाद आप बेस्ट साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट बन सकते हैं। जिस तरह से आज टेक्नोलॉजी का ग्राफ बढ़ रहा है। उससे इस क्षेत्र में नौकरी के अवसर भी बढ़ने लगे हैं। 

कैट 2020 में 23 सितंबर तक करें आवेदन

जिन छात्रों ने आईआईएम और देश के दूसरे टॉप मैनेज्मेंट इंस्टीट्यूट में एडमीशन पाने के लिए कैट 2020 के लिए आवेदन नहीं किया है और करना चाहते हैं उनके लिए अच्छी खबर है। अब आवेदन करने की आखिरी तारीख को 23 सितंबर तक के लिए आगे खिसका दिया गया है। इससे पहले 16 सितंबर आखिरी तारीख थी। आपको बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से देश के तमाम संस्थान एडमीशन और एंट्रेंस टेस्ट और एडमिट कार्ड लेने की तारीखों को बढ़ा रहे हैं।भारतीय प्रबंधन संस्थान समेत देश के टॉप मैनेजमेंट और बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की पढ़ाई कराने वाले इंस्टीट्यूट में एडमीशन लेने से पहल कॉमन एंट्रेस टेस्ट यानी कैट क्वालिफाई करना होता है।

जिसमें रैंकिंग के आधार पर कॉलेज इंस्टीट्यूट और बाकी सुविधाएं मुहैया होती है। इस टेस्ट के लिए आवेदन करना होता है, जिसकी आखिरी तारीख 16 सितंबर 2020 थी, जिसे आगे 23 सितंबर 2020 तक के लिए आगे बढ़ा दिया गया है। यह खबर उन छात्रों के लिए काफी बड़ी है जो अभी तक आवेदन नहीं कर पाए थे। अब वो आराम से आवेदन कर पाएंगे। आपको बता दें कि कैट को क्वालिफाई करने के लिए ग्रेजुएशन पास होना बेहद जरूरी है। उसके बिना कोई भी कैट के एग्जाम को क्वालिफाई नहीं कर सकता है। आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया आॅनलाइन है।

साइबर सिक्योरिटी कोर्स करने के लिए ये हैं कॉलेज

साइबर लॉ पाठ्यक्रम में टेक्नोलॉजी और लॉ दोनों विषयों के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है। आजकल हर क्षेत्र में इसकी काफी डिमांड है। क्योंकि हर संस्थान सिक्योरिटी चाहता है। आज भी ज्यादातर लोग ऐसे हैं, जो यह नहीं समझ पाते कि कैसे उनके ई-मेल में किसी अज्ञात व्यक्ति ने सेंध लगाई या कैसे कम्प्यूटर से उनका जरूरी डाटा पल भर में गायब हो गया। यही कारण है कि भारत में साइबर लॉ का विस्तार सभी क्षेत्रों में हो रहा है।

डिपार्टमेंट आॅफ लॉ।
दिल्ली यूनिवर्सिटी।
इंडियन लॉ इंस्टीट्यूट भगवान दास रोड, नई दिल्ली।
आईएमटी मेरठ रोड, गाजियाबाद।
इं.इंस्टिट्यूट आॅफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इलाहाबाद।
फैकल्टी आॅफ लॉ लखनऊ यूनिवर्सिटी लखनऊ।
सीटी यूनिवर्सिटी लुधियाना।
मारवाड़ी यूनिवर्सिटी-एमयू, राजकोट।
जैन यूनिवर्सिटी बेंगलुरू।
डॉक्टर केएन मोदी यूनिवर्सिटी जयपुर।
जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी जयपुर।

देनी होगी नेशनल लेवल की परीक्षा

साइबर सिक्योरिटी कोर्स के डिग्री कोर्स में एडमिशन लेने के लिए नेशनल लेवल की परीक्षाओं को पास करना होता है। साथ ही कुछ कॉलेज ऐसे भी हैं जिनका खुद का एंट्रेंस एग्जाम होता है। यदि कोई कैंडीडेट सर्टिफिकेट कोर्स करना चाहता है तो उसके लिए उसे किसी प्रकार का एंट्रेंस टेस्ट नहीं देना होता।अन्य अपडेट हासिल करने के लिए

हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।