कैसे कटेगी फसल, हरियाणा में नहीं आ पा रही कम्बाइन?

0
Farmers Hard Work

प्रदेश से प्रवासी मजदूर कर चुके हैं पायलन, बढ़ी चिंताएं

चंडीगढ़(अश्वनी चावला/सच कहूँ)। हरियाणा में भले ही गेंहू की खरीद का सीजन 15 दिन देरी से करने के बाद मंडियों में फसल 15 अप्रैल के बाद ही आएगी। परंतु खेतों में पककर लगभग पूरी तरह तैयार हुई गेहूं की फसल की कटाई कैसे होगी, इस बात की चिंता हरियाणा के किसानों को खाए जा रही है। क्योंकि ज्यादातर हरियाणा में गेहूं की कटाई पहले मजदूरों के द्वारा की जाती थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते मजदूर हरियाणा से बड़ी संख्या में पलायन करके अपनों घरों को लौटे चुके हैं। जिसके चलते अब किसानों की फसलों की कटाई का सारा दारोमदार कंबाइन हार्वेस्टर पर ही टिका हुआ है। लेकिन यहां पर भी हरियाणा व पंजाब राज्य की सीमा सील होने के चलते किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

अभी तक सरकार की तरफ से कोई अधिकृत आदेश जारी नहीं

पंजाब से लगभग 17-18 हजार के करीब कंबाइन गेहूं की फसल कटाई करने के लिए इन दिनों में हरियाणा व राजस्थान के लिए निकलती हैं। क्योंकि पंजाब से पहले हरियाणा और राजस्थान में ही गेहूं की फसल की कटाई शुरू होती है। इस साल भी पंजाब राज्य में बड़ी संख्या में कंबाइन पूरी तरह तैयार होते हुए हरियाणा राज्य में प्रवेश करना चाहती है, परंतु पंजाब में कर्फ्यू लगा होने के कारण कंबाइन आॅपरेटर को जहां एक तरफ कर्फ्यू का पास नहीं मिल पा रहा है।

वहीं अगर कोई कर्फ्यू का पास लेकर पंजाब की सीमा पार करते हुए हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश कर रहा है तो उसे हरियाणा में दाखिल नहीं होने दिया जा रहा है, क्योंकि अभी तक सरकार की तरफ से कोई अधिकृत आदेश जारी नहीं किए गए हैं, जिन आदेशों के अनुसार दोनों राज्यों की सीमा पर तैनात पुलिस बल कंबाइन आॅपरेटर को हरियाणा में आने की इजाजत दे। जिसके चलते हो रही देरी के कारण ही हरियाणा का किसान काफी भयभीत नजर आ रहा है, क्योंकि इन दिनों मौसम के बिगड़ते मिजाज के चलते कब मेहनत पर पानी फिर जाए, कहा नहीं जा सकता।

कैसे होगा कम्बाइन आॅपरेटर का टेस्ट

हरियाणा राज्य की सीमा पर लगा पुलिस बल यह बात कह रहा है कि अगर प्रदेश सरकार की तरफ से कंबाइन सहित उसके आॅपरेटर को राज्य में आने की इजाजत दे दी जाती है तो यह कैसे सुनिश्चित किया जा सकता है कि कंबाइन आॅपरेटर किसी भी तरह की बीमारी के साथ-साथ कोरोना वायरस से पीड़ित नहीं है। इन कम्बाइन आॅपरेटरों का टेस्ट करने के लिए सीमा बल के पास किसी भी तरह का कोई साजो समान नहीं है और न ही इस तरह का आदेश है कि उन्हें किस हस्पताल में भेजकर उनका टेस्ट कराने के पश्चात ही उन्हें छूट दी जाए।

कृषि मंत्री जे.पी. दलाल ने दिया था भरोसा

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल की तरफ से पिछले दिनों ही भरोसे दिया गया था कि फसल की कटाई का मौसम आने वाला है और उसके लिए पंजाब में अन्य राज्यों से आने वाली कंबाइन के साथ-साथ अन्य कृषि मशीनरी को प्रदेश में आने के लिए किसी भी तरह से नहीं रोका जाएगा। कृषि मंत्री के इस भरोसे के बावजूद भी हरियाणा में अभी तक इस तरह के कोई आदेश जारी नहीं हुए हैं, जिसके तहत हरियाणा राज्य में कंबाइन के साथ उसके आॅपरेटर को आने की इजाजत दी जाए।

आदेश आज ही करवा देते हैं जारी : सत्यप्रकाश

हरियाणा गृह विभाग के सेक्रेटरी व कोरोना के चलते नोडल अधिकारी टी.एल. सत्यप्रकाश ने कहा कि यह आदेश जारी होने से रह गये होंगे। इस बारे में आज ही वो कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य की सीमा पर किसी को दिक्कत न आए और प्रवेश करने की इजाजत देने के लिए अभी आदेश जारी कर रहे हैं। इस बारे में आगे किसी को दिक्कत नहीं आएगी।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।