भिवानी में मिला कोरोना का पहला संदिग्ध मरीज

0
Coronavirus

नागरिक अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती, सैंपल रोहतक पीजीआई भेजे (Corona patient in Bhiwani)

  • यूएई में समुद्री जहाज में तेल का टैंक चलाता था

भिवानी (सच कहूँ ब्यूरो)। पूरी दुनिया कोरोना वायरस के डर से भयभीत है। इसी बीच भिवानी जिला भी इससे अछूता नहीं रहा है। यहां भी 37 वर्षीय एक व्यक्ति को संदिग्ध परिस्थितियों में आईसोलेट करके सैंपल रोहतक पीजीआई भेजे गए हैं। भिवानी जिला में कोरोना वायरस के संदिग्ध का ये पहला मामला है। 24 घंटे बाद पता चल पाएगा की इसकी रिपोर्ट नेगेटिव या पॉजटिव आती है।

7 दिन पहले ये व्यक्ति विदेश से लौटा था और उस समय कोरोना का कोई लक्षण नहीं था

मंगलवार को पहला संदिग्ध मामला सामने आने पर स्वास्थ्य विभाग के कान खड़े हो गए। हालांकि स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन का दावा है कि कोरोना वायरस से बचाव व उपचार के लिए हर प्रबंध पुख्ता किए जा चुके हैं। पहले संदिग्ध मामले की पुष्टि खुद पीएमओ रघुबीर शंडिल्य ने की। चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल के पीएमओ डॉ. रघुबीर शांडिल्य ने बताया कि अनाज मंडी निवासी 37 वर्षीय ये व्यक्ति यूएई और ईरान में समुद्री जहाज में तेल का टैंकर लाने ले जाने का काम करता है। उन्होंने बताया कि 7 दिन पहले ये व्यक्ति विदेश से लौटा था और उस समय कोरोना का कोई लक्षण नहीं था। पीएमओ ने बताया कि आज इस व्यक्ति ने संपर्क कर बताया कि उसे बुखार है और गला खराब है। इसके बाद इसे नागरिक अस्पताल में भर्ती कर आईसोलेट किया गया है।

उन्होंने बताया कि इसकी 24 घंटे बाद रिपोर्ट आएगी। उसके बाद रिपोर्ट के आधार पर इनका ईलाज शुरू किया जाएगा। वहीं पीड़ित के भाई अमित का कहना है कि उसका भाई ईरान सरकार में मर्चेंट नेवी में काम करता है। वह इन दिनों छुट्टी आया हुआ था। उसने बताया कि वह कई प्रकार के टेस्ट करवा कर ही भारत लौट कर आया है।

  • उसने बताया कि उसके भाई को कोरोना नहीं है।
  • वह गर्मी थी यहां रात को बाहर सो गया था।
  • बच्चों के साथ उसने आइस क्रीम खा ली।
  • उसकी वजह से उसे गले में दर्द हुआ था।
  • उन्होंने बताया कि उन्हें कोरोना नहीं है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।