कोरोना/लॉकडाऊन। दुकानें खुली, ग्राहक गायब

0
Business Activities

आर्थिक तंगी की मार झेल रहे दुकानदार कर रहे राहत की मांग

लुधियाना/रायकोट(सच कहूँ/राम गोपाल राएकोटी)। कोरोना महामारी के कारण दो महीने से बंद पड़ीं दुकानें खोले जाने के कारण दुकानदारों में भारी खुशी थी परंतु बाजार खुल जाने के बाद ग्राहकों की आमद न मात्र होने के कारण यह खुशी अधिक देर तक टिकी न रह सकी। दुकानें खोले जाने के आज चौथे दिन भी बाजारों में कोई रौनक नजर नहीं आई। शहर के मुख्य बाजार भी खाली नजर आए और दुकानदारों का कहना था कि बंद दौरान जब कुछ समय के लिए छूट मिलती थी तो अच्छी खरीदारी हो जाती थी परंतु बाजार खुल जाने पर जैसे ग्राहक गायब ही हो गया है।

बाजार खुलेंगे तो उनके सब घाटे-मुनाफे पूरे हो जाएंगे

कई दुकानदारों ने कहा कि पिछले दो महीने से वह खाली हाथ बैठे हैं और अब बाजार खुल जाने पर भी वह मंदी की मार झेल कर रहे हैं, इस लिए सरकार को चाहिए कि उनको भी कुछ राहत दी जाये। इनमें से कई दुकानदार बिजली बिलों की माफी, कर्जे की किस्तें ओर आगे बढ़ाने व ब्याज माफ करने की मांग कर रहे थे। इस संबंधी जब दुकानदारों के साथ बातचीत की गई तो कोरोना महामारी के कारण पैदा हुई आर्थिक तंगी से परेशान हुए दुकानदारों ने बताया कि इस महामारी ने उनकी कमर तोड़ कर रख दी है।
क्योंकि पहले दो महीनों के बंद दौरान उन्होंने इस आशा में काट लिए कि जब बाजार खुलेंगे तो उनके सब घाटे-मुनाफे पूरे हो जाएंगे परंतु आज बाजार खुलने के चौथे दिन भी जब बाजार में ग्राहक नजर नहीं आ रहा तो उनकी आशाएं धुंधली होती दिखाई दे रही हैं, क्योंकि सरकार की ओर से भी उनको कोई राहत का ऐलान नहीं हुआ है।
हरजीत सिंह, गुरनानक पढ़ हाऊस – हरजीत सिंह ने बताया कि जबसे बाजार खुला है कोई ही ग्राहक आ रहा है, बाजार में पहले वाली कोई रौनक नहीं है। व्यापारिक लेन -देन का बहुत कठिन हुआ पड़ा है और सामने कोई आशा भी नजर नहीं आ रही क्योंकि अभी भी कई लोग कह रहे हैं कि एक बार फिर बंद हो सकता है।
रोहित कुमार – बलदेव टैलर्स – का कहना है कि उन का कपड़े और सिलाई का कारोबार है जो पूरी तरह ठप्प हो गया है। उन्होंने बताया कि इस से पहले हाड़ी की फसल के बाद उनके पास विवाह -शादी के अच्छे आॅर्डर होते थे परंतु अब तक किसी विवाह का आॅर्डर नहीं आया।
उनके रखे हुए बाहर के कारीगरों का खर्चा अलग से झेलना पड़ रहा है। उनकी खरीदारी पूरी तरह रूकी पड़ी है परन्तु सभी खर्च बरकरार हैं।
अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।