Breaking News

राहुल के इस्तीफे पर संशय से कांग्रेस में बढ़ी रार

Congress raises doubts over Rahul's resignation

वीरप्पा मोइली बोले- राहुल गांधी को इस्तीफे पर अनिश्चितता खत्म करनी चाहिए

नई दिल्ली/ चंडीगढ़ (एजेंसी)। लोकसभा चुनाव में शिकस्त के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर अब भी पसोपेश की स्थिति है। इसके चलते पार्टी की स्टेट यूनिट्स में आपसी कलह की स्थिति पैदा हो गई है। केंद्रीय नेतृत्व की शिथिलता की वजह से ऐसी आपसी रार बढ़ती ही जा रही हैं। पंजाब से लेकर कर्नाटक तक पार्टी को आंतरिक संघर्ष का सामना करना पड़ा रहा है।

यही नहीं सीनियर नेताओं को चिंता है कि यदि राहुल गांधी अपना इस्तीफा वापस नहीं लेते हैं तो स्थिति और विकट हो सकती है। दिग्गज कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने सार्वजनिक रूप तौर पर कहा है कि पार्टी के उन साथी नेताओं का कहना है कि राहुल गांधी को अपने इस्तीफे को लेकर अनिश्चितता की स्थिति खत्म करनी चाहिए। सीनियर नेताओं का मानना है कि राहुल गांधी को मजबूती से अध्यक्ष पद काम करना चाहिए और राज्य यूनिटों में दखल देकर आपसी कलह खत्म करानी चाहिए।

  • हरियाणा में छिड़ी हु़ड्डा बनाम तंवर की जंग

कुछ दिन पहले ही हरियाणा की स्टेट यूनिट में भी तीखे मतभेद दिखे थे। भविष्य की रणनीति के लिए हरियाणा के पूर्व सीएम भूपिंदर सिंह हुड्डा ने विधायकों और सीनियर नेताओं की मीटिंग बुलाई थी। इस दौरान हुड्डा ने प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर को भी हटाने की मांग की। हुड्डा गुट का मानना है कि राज्य में विधानसभा और लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद भी पार्टी कोई सबक लेती नहीं दिख रही है। दूसरी तरफ उनका विरोधी गुट यह कहते हुए हमला बोल रहा है कि हुड्डा और बेटे की उन सीटों पर भी हार हो गई, जिन्हें जाट बहुल माना जाता है।

  • पंजाब में कैप्टन अमरिंदर और सिद्धू में बढ़ी रार

कांग्रेस ने पंजाब में अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन करते हुए 13 में से 8 सीटें हासिल की हैं। हालांकि यहां भी सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह सिद्धू पर हमले का कोई मौका नहीं छोड़ रहे। हाल ही में उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू के कद को कम करते हुए उनका मंत्रालय भी बदला है। गौरतलब है कि आम चुनाव में हार के बाद ही कैप्टन ने कहा था कि पाकिस्तानी सेनाध्यक्ष को गले लगाने के चलते ऐसे नतीजे आए हैं, यह सीधे तौर पर सिद्धू पर उनका वार था।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top