कृषि कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरी कांग्रेस

0
Agricultural-Bill-Protest

खिलाफत : किसान-मजदूर बचाओ दिवस के रूप में मनाई महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री की जयंती (Agricultural Bill Protest)

  • भाजपा सरकार की कार्यप्रणाली पर उठाए गंभीर सवाल

फरीदाबाद (सच कहूँ न्यूज)। केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में लाए गए 3 कृषि विधेयकों के विरोध में शुक्रवार को देशभर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री की जयंती को ‘किसान-मजदूर बचाओ दिवस’ के रूप में मनाया। इसी कड़ी में हरियाणा के सरसा, फतेहाबाद, हिसार, जीन्द, कैथल, कुरुक्षेत्र, पानीपत, यमुनानगर, अंबाला, पंचकूला, रोहतक, सोनीपत सहित विभिन्न जिलों में विरोध प्रदर्शन किया गया। फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी लखन कुमार सिंगला के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने सेक्टर-17 स्थित लेबर चौक पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करने के बाद कृषि अध्यादेशों के खिलाफ ट्रैक्टरों पर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जब-जब योगी डरता है, पुलिस को आगे करता है, मोदी तेरी तानाशाही नहीं चलेगी, किसानों के खिलाफ तीनों अध्यादेश वापिस लो, वापिस लो, नारे लगाकर अपना विरोध दर्ज करवाया। इस अवसर पर कुंवर बालू सिंह एडवोकेट, पूर्व पार्षद अनिल शर्मा, योगेश ढींगड़ा, सत्यवीर डागर ललित भड़ाना, एस.एल. शर्मा, सहित अनेकों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।

कांग्रेसियों ने भैंस के आगे बजवाई बीन

झज्जर (सच कहूँ/संजय भाटिया)। केन्द्र सरकार द्वारा पारित किए गए नए कृषि अध्यादेशों को लेकर शुक्रवार को झज्जर, बेरी व बादली में कांग्रेस ने अनोखे ढंग से अपना विरोध जताया। गांधी जयन्ती पर गांधी गिरी दिखाते हुए झज्जर में जहां कांग्रेस ने पूर्व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल के नेतृत्व में भैंस के सामने बीन बजाकर इन बिलों का विरोध किया। वहीं बेरी में डॉ. रघुबीर सिंह कादयान ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बिलों पर विरोध जताया और बादली में विधायक डॉ. कुलदीप वत्स के नेतृत्च में कांग्रेसियों ने धरना देकर इन बिलों पर अपने आक्रोष का इजहार किया। इस मौके पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुभाष गुर्जर, विरेन्द्र दरोगा, एडवोकेट विकास अहलावत, सुनील जाखड़ सहित अन्य नेता भी मौजूद रहे।

तोशाम में ट्रैक्टर मार्च के बाद फूंका पीएम व सीएम का पुतला

भिवानी (सच कहूँ न्यूज)। कांग्रेसियों ने कृषि कानून के विरोध में शहर में ट्रैक्टर मार्च निकाला और प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं विधायक किरण चौधरी व पूर्व सांसद श्रुति चौधरी के दिशा-निर्देश पर पार्टी कार्यकर्ता शुक्रवार सुबह अनाज मंडी परिसर में इकट्ठा हुए। महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों पर पुष्प अर्पित कर नमन किया। इसके बाद केंद्र सरकार के कृषि कानून के विरोध में करीब दो घंटे धरना दिया। यहां से तोशाम खंड समन्यवक हरिसिंह सांगवान और कैरू खंड समन्यवक शीशराम चेयरमैन की अगुवाई में कांग्रेसी कार्यकर्ता केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ट्रैक्टर मार्च लेकर निकले। शहर मुख्य बाजारों से होते हुए सुरेंद्र सिंह चौक पर पहुंचे। चौक पर कांग्रेसियों ने कृषि कानून के विरोध में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का पुतला जलाया। कांग्रेस नेताओं ने कृषि कानून को तत्काल रद्द करने की मांग की।

पूंजीपतियों के गुलाम बनकर रहे जाएंगे किसान

रोहतक (सच कहूँ न्यूज)। केन्द्र सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में तीन बिल पास करने व हथरस में हुई युवती के साथ जघन्य कांड के विरोध में शहर में प्रदर्शन किया और गोहाना अड्डा पर भाजपा सरकार का पुतला फूंका। शुक्रवार को कांग्रेस विधायक भारत भूषण बतरा, कलानौर की विधायक शंकुतला खटक व महम के पूर्व विधायक आनंद सिंह दांगी के नेतृत्व में काफी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय में एकत्रित हुए और रोष सभा का आयोजन किया। विधायक भारत भूषण बत्तरा ने कहा कि भाजपा सरकार पूरी तरह से जनविरोधी फैसले ले रही है। सरकार ने बिना किसानों से उनकी मर्जी जाने ही तीन काले कानून बना दिए। इन बिलों से पूरी तरह कृषि क्षेत्र तबाह हो जाएगा और किसान व मजदूर पूजीपतियों के गुलाम बनकर रह जाएंगे। प्रदर्शनकारियों में पूनम चौहान, रघुबीर सैनी, रामजी गहलोत, विकास परमार, संदीप हुड्डा, राजेन्द्र दहिया, अभिषेक भटनागर प्रमुख रूप से शामिल रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।