श्रमिक मजदूरों की मजबूरी पर ‘बस सियासत’

0
Congress-leader-Poonia

कांग्रेसी नेता पूनिया विवादित टवीट् के लिए एक दिन के रिमांड पर

(Controversial tweet of Congress leader Poonia)

  •  सभ्य समाज ऐसी अमर्यादित भाषा की नहीं देता इजाजत, कानूनी कार्रवाई करेंगे : विज 

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़/सच कहूँ)। पूरे देश में श्रमिक मजदूरों की बेबसी और लाचारी पर राजनैतिक पार्टियां अपनी रोटियां सेंकने में लग गई हैं। मजदूरों की मदद या सरकारी इंताजामात के हवाले से सत्ता और विपक्ष एक-दूसरे को नीचा दिखाने और कुछ भी बोल जाने से बिल्कुल परहेज नहीं कर रहे। गत दिवस कांग्रेसी नेता पंकज पूनिया द्वारा इस संबंध में किए गए विवादित टवीट् से राजनीति के खेल को और तेल मिल गया है। पंकज पूनिया को जहां करनाल से गिरफ्तार कर एक दिन के रिमांड पर भेज दिया गया है। वहीं प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि पूनिया की भाषा किसी सभ्य समाज को बर्दाश्त नहीं होगी, उन पर कानूनी कार्रवाई जरूर की जाएगी।

बता दें कि यूपी बस विवाद में करनाल के मधुबन से बुधवार शाम कांग्रेसी नेता पंकज पूनिया को गिरफ्तार किया गया। यूपी बस विवाद के बाद पूनिया ने सीएम योगी आदित्यनाथ और संघ को लेकर कई विवादित ट्वीट किए थे। जिसके बाद यूपी में उनके खिलाफ केस दर्ज कराया गया। कांग्रेस नेता पंकज पूनिया के खिलाफ विवादित ट्वीट को लेकर लखनऊ के साइबर सेल में मामला दर्ज किया गया था। इसके साथ ही नोएडा सेक्टर 39 थाने में नया मामला दर्ज कराया गया। कांग्रेस नेता पंकज पूनिया ने सीएम योगी और संघ को लेकर विवादित बयान दिया था। केस दर्ज होने के बाद उन्हें हरियाणा के करनाल से गिरफ्तार किया गया।

विवादित टवीट् में योगी सरकार पर पूनिया का सीधा हमला

पंकज पूनिया ने अपने ट्वीट में लिखा, कांग्रेस सिर्फ मजदूरों को अपने खर्च पर उनके घर पहुंचाना चाहती थी। बिष्ट सरकार ने राजनीति शुरू कर दी। भगवा लपेटकर नीच काम संघी ही कर सकते हैं। इसके अलावा भी उन्होंने अपने ट्वीट में विवादित टिप्पणी की।

मामला बढ़ता देख पूनिया ने डिलीट किया टवीट और मांगी माफी

हालांकि इस ट्वीट पर हुए विवाद के बाद पंकज पूनिया ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया और माफी भी मांगी। इसके बाद एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने कहा, मेरे लिखने से अगर किसी भाई को बुरा लगा हो तो मैं खेद व्यक्त करता हूँ। मेरे शब्द मैंने गार्गी कॉलेज में जो हुआ था, उसको लेके थे, ना कि किसी धर्म को लेकर।

कांग्रेस पहले पंजाब सहित कांग्रेस शासित राज्यों के मजदूरों की सुध ले : विज

प्रियंका गांधी के श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए 1000 बसें देने की बात पर हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने प्रियंका गांधी और कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। विज ने कहा कि श्रमिकों को आगे रखकर राजनीति कर रही प्रियंका गाँधी पहले कांग्रेस शासित प्रदेशों से श्रमिकों को उनके घर पहुंचाए। पंजाब से हरियाणा के रास्ते यूपी-बिहार जाने वाले श्रमिकों का पलायन बहुत अधिक संख्या में हो रहा है।

  • पंजाब में कांग्रेस की सरकार है और कै. अमरिंदर हरियाणा की बात तो मान नहीं रहे हैं।
  • ऐसे में प्रियंका गाँधी को पंजाब जाना चाहिए और पंजाब के मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने का प्रयास करना चाहिए।
  • विज ने तंज कसते हुए कहा कि आज पूरी कांग्रेस कोरोना से भी खतरनाक बीमारी (राजनीती) की चपेट में है।
  • आज कांग्रेस अपने पॉलिटिकल एजेंडे के अनुसार तमाशा कर रही है।

कांग्रेसी नेताओं की बोली नीचता की प्रकाष्ठा है : विज

कांग्रेसी नेता पंकज पुनिया के मामले पर भी गृह मंत्री अनिल विज ने प्रतिक्रिया दी और कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। अनिल विज ने कहा कि कांग्रेस नीचता की पराकाष्ठा कर रही है और जिस प्रकार की भाषा का इस्तेमाल कांग्रेसी नेता ने अपने ट्वीट में किया था, सभ्य समाज इसकी इजाजत नहीं देता। विज ने बताया कि कानूनी प्रक्रिया के तहत पूनिया के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।