गठबंधन सरकार की नीति है ‘बेचो नौकरी, खरीदो वोट, कमाओ नोट’- हुड्डा

0
477
Coalition government's policy sachkahoon

मेरिट और पारदर्शिता नोटों की अटैची में हो रही नीलाम – हुड्डा

  • चोरी-छिपे भ्रष्टाचार करने की बजाय, नौकरियों की रेट लिस्ट जारी कर दे सरकार- हुड्डा

  • गठबंधन सरकार में घोटालों की भरमार, एक को दबाती है तो दूसरा उजागर हो जाता है- हुड्डा

    पूरी तरह विफल है

  • बीजेपी-जेजेपी सरकार, हर वादा और दावा है खोखला- हुड्डा

  • हुड्डा ने दीनबंधु चौधरी छोटूराम और गुरु तेग बहादुर जी को किया नमन

पानीपत….(सन्नी कथूरिया): पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आज मेहनतकश किसानों और मजदूरों के अधिकारों के संघर्ष को अपना जीवन समर्पित करने वाले दीनबंधु सर छोटू राम जी की जयंती पर उन्हें नमन किया। साथ ही उन्होंने सिखों के नौवें गुरु व अन्याय के विरुद्ध संघर्ष एवं बलिदान के प्रतीक गुरु तेग बहादुर जी के बलिदान दिवस पर उन्हें सादर श्रद्धांजलि दी। हुड्डा आज पानीपत के कई सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने यूथ कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सचिन कुंडू के आवास पर एक पत्रकार वार्ता को भी संबोधित किया।

पत्रकार वार्ता में हुड्डा ने कहा कि प्रदेश की गठबंधन सरकार में भर्तियों की मेरिट और पारदर्शिता नोटों की अटैची में नीलाम हो रही है। इस सरकार की एक ही नीति है ‘ बेचो नौकरी, खरीदो वोट, कमाओ नोट’। गठबंधन सरकार की मंशा और नीति अब सार्वजनिक हो चुकी है। इसलिए प्रदेश सरकार को चोरी-छिपे नौकरियां बेचने की बजाय, औपचारिक तौर पर नौकरियों की रेट लिस्ट जारी कर देनी चाहिए। क्योंकि, इस सरकार में परचून की दुकान पर सामान की तरह नौकरियों को बेचा जा रहा है। उन्होंने बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार को पूरी तरह विफल करार दिया है। उनका कहना है कि इस सरकार का हर दावा और हर वादा खोखला साबित हो रहा है। घोटालों की इतनी भरमार है कि सरकार एक घोटाले को दबाने की कोशिश करती है तो दूसरा उजागर हो जाता है। दूसरे को ढकने की कोशिश करती है तो तीसरा सामने आ जाता है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार के संरक्षण बिना इतने बड़े स्तर पर घोटाला संभव नहीं है। अगर सरकार में बैठे लोगों का नौकरियों के इस भ्रष्टाचार से कोई वास्ता नहीं है और यदि सरकार अपने आपको पाक साफ बता रही है तो फिर पूरे मामले की उच्चस्तरीय न्यायिक जांच क्यों नहीं करवाई जा रही? सरकार की तरफ से एचएससीसी और एचपीएससी के चेयरमैन की नियुक्ति की जाती है। पाक साफ भर्तियां करना दोनों संस्थाओं की जिम्मेदारी है। लेकिन अगर चेयरमैन ऐसा करने में विफल साबित हो रहे हैं तो सबसे पहले उन्हें पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। तभी मामले की निष्पक्ष जांच संभव है।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि प्रदेश सरकार लगातार देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी झेल रहे हरियाणा के युवाओं से खिलवाड़ कर रही है। उन्हें बरगलाने के लिए प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण का जुमला उछाला जाता है। जबकि सच यह है कि इस सरकार ने हरियाणा को देश का इकलौता ऐसा राज्य बना दिया है जहां पर दो तरह के रेजिडेंस सर्टिफिकेट हैं। कुछ नौकरियों के लिए 5 साल वाला और कुछ नौकरियों के लिए 15 साल वाला। इससे हरियाणा के युवाओं को लाभ होने की बजाय नुकसान होगा।

पत्रकारों से बातचीत में हुड्डा ने ‘विपक्ष आपके समक्ष’ कार्यक्रम का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि करनाल और जींद के आयोजन पूरी तरह सफल रहे। इसमें बड़ी तादाद में लोग अपनी समस्याओं को लेकर पहुंचे। इस कार्यक्रम का अगला पड़ाव 11 दिसंबर को नूंह में होगा। लोग कार्यक्रम के मंच से जो भी समस्याएं विपक्ष के साथ साझा करेंगे, उन्हें विधानसभा से लेकर संसद तक उठाया जाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here