हरियाणा को गठबंधन सरकार की सौगात, एयरपोर्ट के लिए भूमि पूजन 27 अक्तूबर को

0
Hisar International Airport

हिसार (सच कहूँ न्यूज)। हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और जननायक जनता पार्टी(जजपा) गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठ पर हिसार में अंतरराष्ट्रीय स्तर का हवाई अड्डा की योजना को अब पंख लग जाएंगे। हवाई अड्डे के लिए 27 अक्टूबर भूमि-पूजन कार्यक्रम तय किया गया है। अब तक कागजी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद हिसारवासियों का अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा बनने का सपना सरकार जल्द पूरा करना चाहती है। हवाई अड्डा निर्माण के लिए प्रशासनिक स्तर पर सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं।

केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय विभाग से हवाई अड्डे का निर्माण कार्य शुरू करने को लेकर हरी झंडी मिल गई है और अब एयरपोर्ट के आधारभूत ढांचे का निर्माण कार्य शुरू हो सकेगा। राज्य की गठबंधन सरकार ने हिसार में अंतरराष्ट्रीय स्तर का हवाईअड्डा बनाने की योजना को धरातल पर उतारने में खासी रूचि दिखाई और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने यहां तक कि लॉकडाउन के दौरान भी उड्डयन और विमानन क्षेत्र से जुड़ी कम्पनियों और अधिकारियों के साथ मैराथन बैठकें की। केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से हवाई अड्डे की क्लियरेंस लेने के लिए समय सीमा तय कर अधिकारियों की विशेष तौर पर डयूटी लगाई। अब अंतत: यह योजना मूर्तरूप लेने जा रही है।

वर्तमान हवाई पट्टी के अलावा तीन हजार मीटर नई हवाई पट्टी बनाने का काम शुरू होगा

राज्य सरकार हरियाणा को आगामी समय में एविएशन हब के रूप में विकसित करना चाहती है। इसमें हिसार हवाई अड्डे का निर्माण मील का पत्थर रहेगा वहीं भिवानी में एविशन क्लब, महेंद्रगढ़ में एडवेंचर स्पोर्टस सेंटर, करनाल और पंचकुला में हवाई पट्टियों का भी वह विस्तार करना चाहती है। श्री चौटाला के अनुसार हवाई अड्डे के विस्तारीकरण का सबसे महत्वपूर्ण अंग हवाई पट्टी की लम्बाई बढ़ाना है। वर्तमान हवाई पट्टी के अलावा तीन हजार मीटर नई हवाई पट्टी बनाने का काम शुरू हो जाएगा। हवाई पट्टी के साथ ही टैक्सी वे, टैक्सी स्टैंड, जहाज के लिए पार्किंग स्पेस, टर्मिनल, एयर ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम स्थापित करने की दिशा में चरणबद्ध तरीके से काम शुरू होगा। हिसार हवाई अड्डे की चारदीवारी निर्माण की प्रक्रिया शुरू होगी वहीं आतरिक सुरक्षा हेतु फैंसिंग लगाने की प्रक्रिया जारी है।

इस हवाई अड्डे को अत्याधुनिक बनाया जाएगा जिससे यहां रात में भी बड़े हवाई जहाज उतर सकेंगे। कम द्रष्यता में जहाज की लैंड करने की समस्या से निपटने के लिए भी पूरे इंतजाम किए जाएंगे और इसके लिए इस प्रकार की अत्याधुनिक तकनीक युक्त लाइट स्थापित करने का प्रस्ताव है ताकि यहां 24 घंटे हवाई जहाजों का आवागमन सुनिश्चित हो सके।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।