हरियाणा

सरकारी स्कूलों के बच्चें भी बोलेंगे फर्राटेदार इंग्लिश

Children Of Government Schools Will Also Speak English

विद्यालय मौलिक शिक्षा निदेशालय ने प्रदेशभर के शिक्षाधिकारियों को जारी किया पत्र

सरसा। प्रदेश में अब अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा पर निजी स्कूलों का एकाधिकार खत्म होगा। सरकारी स्कूलों के बच्चों को अंग्रेजी में (Children Of Government Schools Will Also Speak English) और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए शिक्षा विभाग ने एक और कदम आगे बढ़ाते हुए सत्र 2019-20 में प्रदेश के 310 सरकारी स्कूलों में छठी कक्षा से एक सैक्शन में सभी विषयों की पढ़ाई अंग्रेजी माध्यम में शुरु करने का निर्णय लिया है।

इसी को लेकर विद्यालय मौलिक शिक्षा निदेशालय के सहायक निदेशक ने 20 दिसंबर को प्रदेशभर के सभी जिला शिक्षाधिकारी,जिला मौलिक शिक्षाधिकारी, डाईट के प्रधानाचार्य, समग्र शिक्षा अभियान के जिला परियोजना समन्वयक सहित अन्य शिक्षा अधिकारियों को पत्र व्यवहार कर अपने-अपने जिलों के चयनित स्कूलों में कक्षा छठी में एक सैक्शन अंगेजी माध्यम शुरु करने के निर्देश दिए है। वहीं पत्र में उन्होंने यह भी निर्देश दिए है कि आगामी शिक्षा सत्र में नई व्यवस्था को व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाए, ताकि सरकारी स्कूलों में अधिक से अधिक दाखिला हो सकें।

स्कूल को मिलेगी प्रति विषय 40 पुस्तकें अंग्रेजी माध्यम की

विभाग द्वारा जारी पत्र के मुताबिक नई व्यवस्था नए शिक्षा सत्र 2019-20 से लागू होगी। इसके लिए छठी कक्षा के 40 बच्चों को अंग्रेजी में सभी विषय पढ़ाए जाएंगे और किताबें भी भिजवाई जाएंगी। जबकि 40 से अधिक बच्चे होने की स्थिति में हिंदी में सभी विषयों की पुस्तकें दी जाएंगी। अगर इससे कम संख्या रही तो उक्त स्कूल में हिंदी माध्यम की पुस्तकें नहीं भिजवाई जाएगीं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top