हरियाणा सीएम आवास के बाहर कांग्रेस यूथ का प्रदर्शन

0
7

किसानों के मुद्दे को लेकर जता रहे थे विरोध

चड़ीगड: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के सरकारी आवास का घेराव घेरने गए पंजाब यूथ कांग्रेस के सदस्यों को चंडीगढ़ पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया। इन सभी कांग्रेसियों पर धारा 144 तोड़ने की धारा लगी। इसके बाद देश शाम इन्हें रिहा कर दिया गया। ये यूथ कांग्रेसी मनोहर लाल के निवास का घेराव करने आ रहे थे। क्योंकि हरियाणा सरकार की ओर से किसानों को आंदोलन करने से रोका जा रहा है। मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचने से पहले न चंडीगढ़ पुलिस ने इनको बैरीकेट लगाकर रोक लिया, और बैरीकेट तोड़ने की कोशिश के बाद इनको खदेड़ने के लिए वाटर कैनन का भी इस्तेमाल किया गया। इस दौरान कुछ युवा कांग्रेसियों को चोटें भी लगी हैं।

जिस समय कांग्रेसी प्रदर्शन कर रहे थे तो उसी समय मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने निवास पर योगाचार्य रामदेव के साथ मीटिंग कर रहे थे। यूथ कांग्रेस के प्रधान बरिन्दर सिंह ने बताया कि पंजाब के किसान केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए जा रहे थे तो हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के इशारे पर पुलिस ने किसानों को बॉर्डर पर ही रोकने की कोशिश की और उन पर पुलिस की ओर से लाठियां पर चलाई गई थी। इसके साथ ही अब जब किसान सिंघू बार्डर पर शांतमयी ढंग से धरना देते हुए आंदोलन कर रहे हैं तो उन किसानों को भी हरियाणा सरकार की ओर से परेशान किया जा रहा है। सिंघू बार्डर पर लगते हरियाणा की तरफ ही किसान बैठे हैं और वहां बिजली की सप्लाई भी हरियाणा की है। इन किसानों को परेशान करने के लिए कभी बिजली बंद कर दी जाती है तो कभी पानी की सप्लाई रोक दी जाती है। इस तरह के कई हथकंडे अपनाते हुए सरकार किसानों को परेशान कर रही है, जिस कारण ही वे आज मनोहर लाल के आवास को घेरने के लिए आए थे।

उल्लेखनीय है कि यूथ कांग्रेसी लगभग 12 बजे ही सैक्टर-15 में स्थित कांग्रेस भवन में इकठ्ठा होने शुरू हो गए थे और वहीं से ही चलने के बाद यह सैक्टर-3 में स्थित मुख्य मंत्री मनोहर लाल के आवास के पास पहुंच गए। परंतु मुख्यमंत्री के निवास से 100 मीटर पहले ही चंडीगढ़ पुलिस की ओर से इनको रोकने के लिए पूरा इंतजाम किया हुआ था। चंडीगढ़ पुलिस के बैरीकेट्स को तोड़ने में यूथ कांग्रेसी असफल भी रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।