कैप्टन को बताया समझौतावादी सीएम, ट्रांसपोर्ट माफिया के लिए ठहराया जिम्मेवार: राजा वडिंग

0
146
Raja Vading sachkahoon

बादल व मजीठिया ने हर माफिया को बढ़ाया: वडिंग

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब के परिवहन मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा। उन्होंने ट्रांसपोर्ट माफिया के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह को जिम्मेदार ठहराया। साथ ही उन्होंने पूर्व दोनों ट्रांसपोर्ट मंत्री रहे अरुणा चौधरी और रजिया सुल्ताना को क्लीन चिट भी दी है। वडिंग ने कैप्टन को समझौतावादी मुख्यमंत्री बताते हुए पंजाब में हरेक प्रकार के माफिया के लिए शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल और पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को किंगपिंग बताया है।

वडिंग ने कहा कि 15-20 वर्ष पहले तक राज्य में माफिया शब्द नहीं होता था। सुखबीर बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया जब से पावर में आए तब से ही माफिया का प्रचलन शुरू हुआ। चाहे ड्रग्स हो या केबिल या फिर ट्रांसपोर्ट माफिया, सभी के तार बादल और मजीठिया से जुड़ते रहे हैं। ट्रांसपोर्ट मंत्री ने बादलों पर यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने ट्रांसपोर्ट के माध्यम से दूसरे धंधों का काला धन भी सफेद कर लिया और कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इन माफियाओं के साथ समझौता कर लिया। आज अपनी पार्टी बनाकर भाजपा के साथ समझौता करने की बात कहना भी उसी समझौते का ही हिस्सा है।

दोनों मंत्रियों को काम नहीं करने दिया: वडिंग ने साढ़े चार वर्षों के कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री काल के लिए पश्चाताप भी किया। कैप्टन के ही कार्यकाल में रहे दो ट्रांसपोर्ट मंत्री रजिया सुल्ताना और अरुणा चौधरी को क्लीन चिट देते हुए वडिंग ने कहा, उन्हें काम ही नहीं करने दिया गया, क्योंकि कैप्टन ने सिस्टम को अपाहिज बना दिया था। ट्रांसपोर्ट मंत्री ने अपनी बात को पुष्ट करने के लिए कोविड काल के दौरान ट्रांसपोर्ट सेक्टर को दी गई सुविधाओं का हवाला दिया।

ब्लैक मनी को व्हाइट करने का आरोप: उन्होंने कहा कि कोविड के दौरान ट्रांसपोर्ट सेक्टर को 95 करोड़ रुपये की मदद टैक्सों में छूट के रूप में दी गई। इतनी छूट समाज के किसी भी वर्ग को नहीं दी गई। न ही किसी व्यापारी हो और न ही आम आदमी को। केवल ट्रांसपोर्ट सेक्टर को ही इतनी छूट दी गई। सुखबीर बादल पर ट्रांसपोर्ट के जरिये ब्लैक मनी व्हाइट करने का आरोप लगाते हुए वडिंग ने कहा कि यह जांच का विषय है। वह इस मामले में और जानकारी जुटा रहे हैं, क्योंकि यह बड़ा क्राइम है। वडिंग ने कहा कि सुखबीर की एक बस पंजाब से दिल्ली तक के दो-दो फेरी भी लगा लेती थी, जो कि कतई संभव नहीं है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।