कैंडल मार्च निकाल पीड़िता को अर्पित की श्रद्धांजलि

0
Candle march

 भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी कार्यकर्ताओं ने निकाला कैंडल मार्च (Hathras)

हनुमानगढ़। उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में गैंगरेप का शिकार हुई दलित समाज की युवती को न्याय दिलाने की मांग को लेकर गुरुवार रात जंक्शन में भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी कार्यकर्ताओं की ओर से कैंडल मार्च निकाला गया। कार्यकर्ताओं ने कैंडल मार्च निकाल गैंगरेप करने वाले आरोपियों को फांसी पर लटकाने व पीड़िता की मौत के बाद तानाशाही रवैया अपनाने वाले यूपी पुलिस के अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग दोहराई। कैंडल मार्च से पहले रेलवे स्टेशन की बाउंड्री में सभा की गई।

2 मिनट का मौन रखकर दिवंगत पीड़िता को श्रद्धांजलि अर्पित की गई

सभा के बाद बाजार में शहीद भगत सिंह चौक तक कैंडल मार्च निकाला गया। चौक पर शहीद-ए-आजम भगतसिंह की प्रतिमा के समक्ष 2 मिनट का मौन रखकर दिवंगत पीड़िता को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इससे पहले हुई सभा में माकपा के जिला सचिव रघुवीर सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराध बढ़ता जा रहा है। हाथरस जिले के इस मामले में जिस तरह से प्रशासन ने परिजनों की बिना मंजूरी के पीड़िता के शव का देर रात को अंतिम संस्कार कर दिया, यह साबित करता है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कितनी संवेदनहीन है। उन्होंने कहा कि यह रामराज्य नहीं है यह तो रावण राज है जहां न तो बच्चियां सुरक्षित हैं और न ही आम आदमी। बहादुर सिंह चौहान ने कहा कि इस घटना से इससे साबित होता है कि किस तरह से अपराधियों में प्रशासन का कोई खौफ नहीं है।

हाथरस गैंगरेप के इस मामले में इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी प्रशासन पीड़िता के परिवार को दबाने की कोशिश कर रहा है। बयान बदलने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। मीडिया और आम आदमी को पीड़िता के घर पर जाने से रोका जा रहा है। इससे साबित होता है कि अपराधियों के साथ यूपी सरकार का गठजोड़ है। सरपंच बलदेव सिंह मक्कासर ने योगी सरकार से इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि जो व्यक्ति एक दलित बेटी, उसके परिवार वालों के साथ इस तरह का व्यवहार करता है उससे साबित होता है कि उत्तर प्रदेश की सरकार संवेदनहीनता की पराकाष्ठा पर है। सभा को आत्मासिंह, मेजर सिंह, हरजी वर्मा, राजेश नोखवाल, आमिर खान, नायबसिंह, रिछपाल सिंह, शिवकुमार, बसंत सिंह, बीएस पेंटर, टैम्पो यूनियन अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश जैन आदि ने सम्बोधित किया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।