हरियाणा

आॅनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

Busted, Online Fraud, Gangs, Police, Haryana

रोहतक के एक व्यक्ति से की थी 52 लाख की ठगी

  • किस्त जमा न होने पर रूकी इंस्योरेस पॉलिसी धारकों को बनाते थे निशाना

रोहतक (सच कहूँ न्यूज)। पुलिस की साइबर सैल टीम ने यूपी, दिल्ली व हरियाणा में आॅन लाइन ठगी करने वाले गिरोह का भांडा फोड़ करते हुए चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोपी इंस्योरेंस पॉलिसी धारकों को फोन करके अपना निशाना बनाते थे, जिन्होंने किस्त जमा नहीं करवा रखी थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से दस लाख रूपए नकद, एक कार भी बरामद की है। पुलिस ने चारों आरोपियों को अदालत में पेश किया, जहां से अदालत ने दो आरोपियों को जेल भेज दिया, जबकि दो को पुलिस रिमांड पर भेजा है।

वीरवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुलिस अधीक्षक पंकज नैन ने बताया कि रोहतक निवासी करतार सिंह ने सिविल लाइन थाना में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसके मोबाइल पर एक युवक ने फोन करके उसे कहा था कि उसकी पॉलिसी बंद हो गई है और पॉलिसी चालू करवाने के लिए फिर से रूपए जमा कराने होंगे। बकायदा आरोपियों ने करतार सिंह को अलग-अलग खातों के नंबर दिए, जिस पर करतार सिंह उनके झांसे में आ गया और लगातार किस्त के नाम 52 लाख रूपए जमा करा दिए। जब कम्पनी से कोई रसीद नहीं आई तो करतार सिंह को शक हुआ और उसने आरोपियों से सम्पर्क साधा, लेकिन उनके फोन बंद मिले। इस पर करतार सिंह ने सिविल लाइन थाना में शिकायत दर्ज कराई।

जालसाज यूपी, दिल्ली व हरियाणा में चला रहे थे ठगी का कारोबार

पुलिस ने मामले को लेकर गंभीरता से लेते हुए जांच साइबर सैल को सौंप दी। जैसे ही टीम ने जांच का दायरा बढ़ाया तो पता चला कि दिल्ली, यूपी व हरियाणा में आॅनलाइन ठगी करने वाला एक गिरोह सक्रिय है। इसके बाद पुलिस गिरोह के सदस्यों की तलाश में जुट गई। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों में दिल्ली के रमेश नगर निवासी हर्ष, बिहार निवासी राहुल, यूपी निवासी विशाल कपुर व धंनजय शामिल है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी मल्टीनेशल कम्पनियों में काम करने वाले लड़कों से सम्पर्क करके उपभोक्ता का डाटा एकत्रित करते थे और उपभोक्ताओं को लालच देकर अपना शिकार बनाते थे। साथ ही आरोपी रेंट एग्रीमेंट, फर्जी पैन कार्ड व आई डी बनवा कर बैक में अकाउंट खुलवाते थे और इन्हीं अकांउट में उपभोक्ताओं से पैसे डलवाते थे, जिसके बाद खातो से पैसे निकलवार कर आपस में बांट लेते थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से दस लाख रूपए नकद, एक गाडी, एटीएम कार्ड, फर्जी पास बुक व सिम कार्ड भी बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि आरोपियों से अन्य कई वारदातों का भी खुलासा हो सकता है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दिल्ली, उतरप्रदेश व यूपी पुलिस को भी आरोपियों के बारे में सूचित कर दिया गया है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019