राजस्थान

चौकीदार पांडे की हत्या का पर्दाफाश

Busted, Murder Case, Arrested, Police, CCTV, Rajasthan

एक हत्यारोपी गिरफ्तार, दो की तलाश

  • प्रताप मार्किट की छत पर छिपकर करते रहे आधी रात तक इंतजार

श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। स्थानीय कोतवाली पुलिस ने रविवार की रात प्रताप मार्केट में चौकीदार उमेश पांडे की हत्या का पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने घटना के 48 घंटे में ही इस ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करते हुए एक हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी हरेन्द्र महावर ने पत्रकारों के साथ बातचीत में बताया कि प्रताप मार्किट में रविवार की रात को चौकीदार उमेश पांडे निवासी वार्ड नम्बर 3 पुरानी आबादी की हत्या करने के आरोप में अनिल कुमार पुत्र सुखराम कुम्हार निवासी कालूवाला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस ने प्रताप मार्किट में पहले काम कर चुके कर्मचारियों व भवन निर्माण में लगे मजदूरों के बारे में जानकारी जुटाते हुए सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। इस दौरान एक युवक अनिल कुम्हार निवासी कालूवाला व पुरानी आबादी निवासी रमेश उर्फ काली व मनोज बावरी संदेह के दायरे में आये। पुलिस ने अनिल कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो उसने ब्लाइंड मर्डर का खुलासा कर दिया। उसने हत्या की वारदात करना स्वीकार कर लिया और अपने साथियों के नाम भी उगल दिए। अनिल ने अपने साथियों मनोज बावरी व रमेश उर्फ काली सिंधी के साथ मिलकर प्रताप मार्किट में चोरी की वारदात करने का प्लान बनाया। इसके लिए तीनों ही शनिवार की रात को प्रताप मार्किट में रात साढ़े 8 बजे आ गये थे।

कत्ल करने के बाद जागरण में पहुंचे आरोपी

यहां निर्माणाधीन भवन की छत पर आकर छुप गये। रात को दो बजे तीनों युवक नीचे आये। तीनों युवकों ने देखे जाने के भय से मार्किट में सो रहे चौकीदार उमेश पांडे के सिर में लोहे के हथियार से ताबड़तोड़ वार करके उसकी हत्या कर डाली और फिर मार्किट में बनी दो दुकानों में चोरी की वारदात की। जागरण से सुबह पांच बजे अनिल अपने साथियों मनोज व रमेश को लेकर कालूवाला में अपने घर में ले गया। कुछ समय रुकने के बाद मनोज बावरी व रमेश बावरी सुखवंत पैलेस के पीछे स्थित अपने घर चले गये।

दो आरोपी फरार

एसपी ने बताया कि अनिल के साथियों की पहचान मनोज बावरी पुत्र बलवंत बावरी व रमेश उर्फ काली पुत्र राजकुमार सिंधी निवासी सुखवंत पैलेस के पीछे, पुरानी आबादी के रूप में हुई है। रमेश उर्फ काली व मनोज बावरी अभी तक फरार हैं। दोनों की तलाश में पुलिस टीमें गई हुई हैं।

इस टीम को मिली सफलता

श्रीगंगानगर प्रताप मार्किट में चौकीदार की हत्या करने वालों का पर्दाफाश करने में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र सिंह व सीओ सिटी तुलसीदास पुरोहित के नेतृत्व में गठित टीम में शामिल कोतवाल राहुल यादव, एसआई राकेश स्वामी, एसआई राजेकुमार, एसआई संदीप कुमार, एएसआई लालबहादुर, एएसआई ओम कुमार, एएसआई भरत प्रसाद, एएसआई भैराराम, एएसआई ताराचंद सदर, हवलदार रमेशचन्द्र, हवलदार दयाराम, सिपाही रविन्द्र सिंह, गुरमेल सिंह, हरवेल सिंह, जसमेल सिंह, अजय यादव, राधेश्याम, कृष्ण साहू को सफलता मिली।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top