कमलनाथ के बयान पर भाजपा नेताओं का मौन उपवास

0
BJP leaders silent fast on Kamal Naths statement
भोपाल l मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग की महिला एवं पूर्व मंत्री इमरती देवी के खिलाफ अपमान जनक बयान के विरोध में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अन्य नेता मौन उपवास पर बैठ गए। चौहान ने यहां मिंटो हाल परिसर में दो घंटे का मौन उपवास करेंगे। मिंटो हाल परिसर में उपवास में शामिल होने के लिए सुबह लगभग दस बजे मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्य सरकार के अनेक मंत्री और पदाधिकारी पहुंच चुके हैं। इस अवसर पर अनेक महिला पदाधिकारी भी मौजूद हैं।

भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेता भी राज्य में अन्य स्थानों पर मौन उपवास कर रहे हैं

चौहान ने कहा कि कमलनाथ अपनी आपत्ति जनक टिप्पणी के बावजूद उसे जायज ठहराने का प्रयास कर रहे हैं। यह उचित नहीं है। हमारी संस्कृति नारियों के प्रति सम्मान और पूजने की है। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री प्रायश्चित का भाव नहीं ला रहे हैं, इस लिए प्रायश्चित के स्वरूप उन्होंने दो घंटे का मौन उपवास प्रारंभ किया। कमलनाथ ने कल ग्वालियर जिले के डबरा में आयोजित चुनावी सभा में डबरा से भाजपा प्रत्याशी श्रीमती इमरती देवी को आइटम कहा है। इसके बाद से ही भाजपा काफी हमलावर हो गयी है। वहीं कमलनाथ ने कल देर रात अपनी सफाई में दावा करते हुए कहा कि आइटम कोई असम्मान जनक शब्द नहीं है।
वहीं श्रीमती इमरती देवी का भी मीडिया से चर्चा का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें श्रीमती इमरती देवी कमल नाथ को लेकर काफी भला बुरा कहते हुए सुनी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कमलनाथ पश्चिम बंगाल के हैं और वे महिलाओं के प्रति अक्सर सम्मान जनक भाव नहीं रखते हैं। इस वीडियो में श्रीमती इमरती देवी की आंखों में आंसू भी दिखायी दे रहे हैं।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।