बरोदा उपचुनाव: जनता को रिझाने के लिए हर जोड़-तोड़ में जुटी पार्टियां

0
Baroda by-election parties involved in every manipulation to woo the public

 कांग्रेस के जगबीर मलिक ने भाजपा में की एंट्री तो पूर्व भाजपा नेता और पूर्व विधायक परमिंद्र ढुल ने दिया कांग्रेस को समर्थन (Political Parties)

  •  महम चुनाव ने लोकदल की नींव हिलाई थी, बरोदा उप चुनाव भाजपा की नींव हिला देगा: हुड्डा
  • कांगे्रस जातीय राजनीति की बात करती है हम विकास की बात करेंगे: खट्टर
चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़)। बरोदा उपचुनाव को लेकर राजनैतिक सरगर्मियां पूरी उबाल पर हैं। प्रचार के साथ-साथ खेल अब इधर उधर के (Political Parties) नेताओं को अपनी पार्टी में जुगाड़ लगाकर शामिल करवाने का चल रहा है। इसमें पहले कांग्रेस ने बाजी मारी तो अब भाजपा भी कांग्रेस से कहां पीछे रहने वाली थी। कांग्रेस द्वारा डॉ कपूर नरवाल को अपने पाले में लाए जाने के बाद भाजपा ने भी कांग्रेस के दिग्गज नेता जगबीर मलिक को अपनी टीम में शामिल कर लिया है। वहीं पूर्व भाजपा नेता और पूर्व विधायक परमिंद्र ढुल ने कांग्रेस को समर्थन का ऐलान कर दिया।
नेताओं के इस दल-बदल को खूब टीआरपी वाला मैटर बना कर मीडिया में भी परोसा जा रहा है। वहीं भाजपा-कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बरोदा उप चुनाव में हार-जीत तो 3 नवंबर के बाद तय होगी लेकिन यह तय कि चुनाव प्रचार में कोई भी पार्टी किसी भी जुगत में पीछे नहीं रहने वाली। कांग्रेसी नेता को भाजपा में सोमवार को शामिल करवाते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कांग्रेस की किसान विरोधी सोच का साथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने पर जगबीर मलिक का पार्टी अभिनंदन करती है और राष्ट्र प्रेम, किसान हितैषी नीतियों व देश को आगे बढ़ाने हेतु किए जा रहे कार्यों से प्रभावित होकर उन्होंने भाजपा में अपनी आस्था जताई है, जिसका वे स्वागत करते हैं।

कांग्रेस बरोदा में जातीय रंग देने में जुटी, लेकिन हम विकास की बात करेंगे: खट्टर

सीएम ने आरोप लगाया कि बरोदा उपचुनाव को कांग्रेस क्षणिक राजनीतिक लाभ के लिए जातीय रंग देने में जुटी है। उन्होंने कहा कि दूसरे दल यहाँ सिर्फ जातीय ध्रुवीकरण की बात कर रहे हैं, हम बरोदा के विकास की बात करेंगे, किसान के हित की बात करेंगे, बरोदा में आईएमटी लगाने की बात करेंगे, युवाओं को रोजगार देने की बात करेंगे।ह्णह्ण सीएम ने कहा कि बरोदा उपचुनाव में यहाँ कांग्रेस के 15 सालों के कुशासन का अंत होगा। उन्होंने कहा कि अब फैसला बरोदा की जनता को करना है।

मौजूदा तानाशाही सरकार से पीछा छुड़ाने का मौका है बरोदा उपचुनाव: हुड्डा

पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि मौजूदा सरकार में किसानों को उसकी फसलों का उचित रेट नहीं दिया जा रहा। ऊपर से कृषि विरोधी 3 नए कानून थोपकर अन्नदाता को बबार्दी की कगार पर लाकर छोड़ दिया है। किसान अगर इसका विरोध करते हैं तो उनके ऊपर लाठियां बरसाई जाती है और उनपर झूठे मुकदमे दर्ज़ करके उन्हें जेल भेज दिया जाता है। हुड्डा ने कहा कि बरोदा उपचुनाव मौजूदा सरकार की ज्यादतियों और तानाशाही से पीछा छुड़ाने का एक मौका है। इसलिए जनता को इसे सिर्फ एक विधायक का नहीं, बल्कि प्रदेश में अपनी सरकार बनाने का चुनाव मानना चाहिए। उन्होंने महम उपचुनाव का उदाहरण देते हुए बताया कि जिस तरह उस उपचुनाव ने लोकदल सरकार की नींव हिला दी थी, उसी तरह बरोदा उपचुनाव मौजूदा सरकार की जड़ें हिलाने का काम करेगा।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।