बाबरी विध्वंस केस: फैसले के बाद आज ही रिटायर होंगे स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार

0

जज एसके यादव सुनाएगे फैसला

लखनऊ। 6 दिसम्बर 1992 को कार सेवकों द्वारा बाबरी मस्जिद गिराई गई थी। इस मामले में आज सीबीआई कोर्ट थोड़ी देर में अपना फैसला सुनाएगी। इस केस में लालकृष्ण आडवाणी समेत 32 आरोपी है। आज इस पर देशभर की नजर होगी। क्योंकि इस मामले में देश के कई नामी नेता फंसे हुए हैं। सूत्रों के अनुसार 11 से 12 बजे के बीच कभी भी अदालत अपना फैसला सुना सकती है। इस केस के आरोपी विनय कटियार, चंपत राय, साध्वी ऋतंभरा भी अदालत पहुंच गए हैं। स्पेशल जज एसके यादव अदालत पहुंच गए है। अदालत की कार्रवाई शुरू हो गई है।

जानें, कौन-कौन नेता वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनेंगे

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनेंगे।

ये नेता है आरोपी

वर्ष 1992 में विवादित ढांचे के विध्वंस के मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, साध्वी ऋतंबरा,विनय कटियार,राम विलास वेंदाती के अलावा श्रीरामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास समेत सभी 32 आरोपियों के बयान 31 अगस्त तक दर्ज किए जा चुके हैं। सभी आरोपियों ने खुद को निर्दोष बताते हुए साजिश के तहत फंसाने की दलील दी है।

आज ही रिटायर होंगे स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार

इस मामले में एक और खास बात हैं कि जो जज इस पर अपना फैसला सुनाएंगे वो आज ही रिटायर हो जाएंगे। स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार याद के कार्यकाल का आज अंतिम दिन है। आज सायं 5 बजे रिटायर होंगे।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।