गहलोत का कर्मचारियों से वालेंटियर के रूप में सेवा करने का आह्वान

0
Ashok Gehlot, Lockdown Relaxation

जयपुर (सच कहूँ न्यूज)। राजस्थान के मुख्यमंत्री Ashok Gehlot ने कोरोना वायरस के संकट के समय सरकारी कर्मचारियों को वालेंटियर के रूप में सेवा करने का आह्वान किया है। गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए आज यह आह्वन किया। उन्होंने सभी सरकारी कर्मचारियों से अनुरोध किया कि इस संकट के समय में प्रदेश के लोगों की सार-संभाल के लिए हर साथी को 20 परिवारों की देखभाल के लिए भागीदारी निभानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्हें वालेंटियर के रूप में सेवा करने का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस समय सरकार द्वारा जनहित में युद्ध स्तर पर उठाए गए कदमों का लाभ हर जरूरतमंद तक पहुंच सके, इसमें इनकी भागीदारी चाहते हैं। कोई इंसान एवं पशु पक्षी भूखा प्यासा न रहे, यह कर दिखाना है।

सामाजिक दूरी बनाए रखे लोग

  • उन्होंने कहा कि लाकडाउन के कठिन संकल्प का पालन करवाने का बीड़ा उठाना है।
  • सामाजिक दूरी का वर्तमान धर्म का पालन करवाना है।
  • गर्भवती महिलाओं को चिकित्सकीय सहायता पहुंचाने में हरसंभव मदद का कर्त्तव्य निभाना है।
  • दिव्यांगों एवं बेसहारा एवं वंचित लोगों को पीड़ा से उभारना है।
  • अपने मित्रों एवं जानकारों को भी सहायता के लिए प्रेरित करना है।

कोरोना चिंता के बीच वन्यजीवों से मिली अच्छी खबर गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री Ashok Gehlot ने अलवर जिले में स्थित सरिस्का अभयारण्य में बाघिन एसटी दस के शावक को जन्म देने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस की चिंता के बीच वन्यजीवों से एक अच्छी खबर मिली है। गहलोत ने मंगलवार को सोशल मीडिया के जरिए कहा कि कोरोना वायरस की चिंता के बीच वन्यजीवों से एक अच्छी खबर है कि एसटी 10 ने सरिस्का टाइगर रिजर्व में एक शावक को जन्म दिया है। उन्होंने कामना की कि राज्य में वन्य जीवन इसी तरह पनपता रहे। उल्लेखनीय है कि अभ्यारण्य में सोमवार को वाटर होल पर बाघिन के साथ अठखेलियां करते शावक का फोटो कैमरे में कैद हुआ था।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।